डोकलाम विवाद : भारत-चीन पर अमेरिका की नजर, कहा -सीधी वार्ता करें दोनों देश


सिक्किम में चीन और भारत के बीच चल रहा गतिरोध खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। भारत चीन सीमा पर तनातनी बनी हुई है डोकलाम का मुद्दा गरमाता जा रहा है ।

आपको बता दे कि डोकलाम मुद्दे को लेकर भारत और चीन की सेना के बीच विवाद जारी है । इस बीच अमेरिका ने दोनों देशों से तनाव घटाने के लिए आपस में वार्ता करने का अनुरोध किया है और कहा कि वह इस स्थिति पर करीब से नजर रख रहा है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्‍ता हीथर नार्ट ने बताया कि हम दोनों देशों की मौजूदा स्‍थिति को काफी सर्तकता के साथ करीब से देख रहे हैं।

ब्रिक्‍स देशों- ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के साथ 27 व 28 जुलाई को मीटिंग के लिए अजीत डोभाल के बीजिंग दौरे के बारे में बताते हुए उन्‍होंने कहा कि दोनों देश आपस में बात करने वाले हैं।

उन्‍होंने आगे कहा कि तनावों को कम करने के लिए हम उन्‍हें आपसी बातचीत के लिए प्रोत्‍साहित करेंगे। भारत ने गुरुवार को बताया कि वह चीन से वार्ता के लिए तैयार है लेकिन पहले दोनों ओर से तैनात किए गए सेना को हटाया जाए ताकि सिक्‍किम सेक्‍टर में इससे जारी तनावपूर्ण हालात में कमी हो। चीन ने जवाब दिया कि भारत के साथ राजनयिक संबंध जारी रहें लेकिन दोहराया कि ‘अर्थपूर्ण वार्ता’ के लिए उनकी पहली शर्त डोकलाम इलाके से भारतीय सैनिकों की वापसी है।

हीथर ने ये बह कहा है कि हम उन्हें तनाव कम करने के लक्ष्य से सीधी वार्ता के लिए प्रोत्साहित करेंगे वहीं भारत का रूख साफ है। भारत द्वारा कल कहा गया था कि वह चीन के साथ वार्ता के लिए तैयार है, लेकिन इसके लिए दोनों पक्ष सिक्किम सेक्टर में गतिरोध कम करने लिए अपनी-अपनी सेना को पीछे हटाए।