ATM में कैश न होने से देश की कई बड़े राज्यों में बने नोटबंदी जैसे हालात


ATM

एटीएम में कैश न होने की वजह से देश के कई राज्यों में नोटबंदी जैसे हालत उत्पन्न हो गए है। कैश न होने की परेशानी बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात जैसे चार बड़े राज्यों में है। लोगों की बढ़ती परेशानी को देखते हुए आखिरकार रिजर्व बैंक और सरकार को आगे आना पड़ा। रिजर्व बैंक के सूत्रों का कहना है कि अब अर्थव्यवस्था में नकदी की हालत नोटबंदी के पहले वाले दौर से भी बेहतर है, ऐसे में इस संकट की वजह दूसरी है। रिजर्व बैंक ने इन राज्यों में नकदी की आपूर्ति दुरुस्त करने के लिए कदम उठाए हैं और उम्मीद जताई है कि जल्दी ही हालात सामान्य हो जाएंगे।

रिजर्व बैंक के सूत्रों का कहना है कि असम, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश आदि राज्यों में लोगों के जरूरत से ज्यादा नकदी निकालने की वजह से यह संकट खड़ा हुआ है। सरकारी सूत्रों का कहना है कि कई राज्यों में बैसाखी, बिहू और सौर नव वर्ष जैसे त्योहार होने की वजह से लोगों को ज्यादा नकदी की जरूरत थी। लोग नकदी का जमावड़ा न करने लगें और अफरा-तफरी न मचे इसके लिए वित्त मंत्रालय ने तत्काल रिजर्व बैंक के अधिकारियों के साथ बैठक की। सूत्रों के अनुसार, वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने विभिन्न राज्यों के अधिकारियों और बैंक प्रमुखों से परामर्श भी किया।

सूत्रों का कहना है कि नकदी की उपलब्धता में ऐसे उतार-चढ़ाव होते रहते हैं। जैसे यदि किसी राज्य में डिमांड बढ़ जाती है तो दूसरे राज्य में आपूर्ति पर थोड़ा अंकुश लगा दिया जाता है। उदाहरण के लिए असम में शनिवार को बिहू त्योहार होने की वजह से उसके कुछ दिनों पहले नकदी की निकासी काफी बढ़ गई। इसलिए दूसरे कुछ राज्यों में आपूर्ति में कटौती करनी पड़ी। वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘अब आपूर्ति सामान्य हो गई है और हालात जल्दी ही सामान्य हो जाएंगे। कई जगहा एटीएम के बाहर NO CASH का बोर्ड लगा दिया गया है। लोग कैश की तलाश में एटीएम और बैंक के चक्कर काट रहे हैं।

बैंक भी लोगों को ज्यादा कैश नहीं दे रहे हैं, जबकि शादी का सीजन चल रहा है। देश में शुरू हुए नकदी संकट को लेकर मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चौंकाने वाला बयान देते हुए इसे साजिश करार दिया। किसानों की सभा को संबोधित करने को दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 2000 के नोट को साजिश के तहत चलन से गायब किया जा रहा है।बताया जा रहा है कि इन राज्यों मे लोगों द्वारा ज्यादा बैंको और एटीएम से ज्यादा नगदी निकालने की वजह से यह संकट पैदा हुआ है। इन राज्यो में लोगों ने बैंकों से पैसे तो निकाले लेकिन बैंकों में पैसे जमा नहीं कराए गए, जिसकी वजह से यह समस्या खड़ी हुई है।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ