लापता हुए बीसीए के छात्र की प्रेम-प्रसंग के चलते अपहरण कर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने पीथमपुर और खुड़ैल क्षेत्र में ले जाकर पहले उससे जमकर मारपीट की और बाद में हत्या कर शव कंपेल क्षेत्र स्थित खाई में फेंक दिया।

जानकारी के मुताबिक , छात्र सागर से इंदौर में बीएससी की पढ़ाई करने आया था। छात्र का रविवार को उसके ही साथ पढ़ने वाले एक छात्र ने पहले अपहरण किया था और बाद में इंदौर से दूर जंगल में ले जाकर खाई में फेंक दिया था। मामला इंदौर के परदेशीपुरा थाना क्षेत्र के क्लर्क कालोनी का है।

सागर का रहने वाला मृदुल भल्ला इंदौर के एक कॉलेज में बीएससी की पढ़ाई कर रहा है। मृदुल रविवार को अचानक गायब हो गया था। उसकी जानकारी मृदुल के साथ रहने वाले लड़के ने पुलिस और उसके परिवार को दी थी। जिसके बाद परिवार ने इंदौर पहुंचकर परदेशीपुरा पुलिस को मृदुल के लापता होने की शिकायत की थी। जांच पड़ताल के बाद सीसीटीवी कैमरों से खुलासा हुआ था कि मृदुल का कार सवार तीन युवकों ने अपहरण किया था जिसमें उसके साथ पढ़ने वाला उसका एक दोस्त जोंटी भी था।

अपहरण के 5 दिन बाद मृदुल गंभीर हालत में खुड़ैल के जंगलों की खाई से मिला है। गुरुवार रात परदेशीपुरा पुलिस और कम्पेल पुलिस घटनास्थल पर पहुंची थी। अंधेरा होने पर देर रात रेस्क्यु ऑपरेशन नहीं किया जा सका। शुक्रवार सुबह जब टीम खाई में उतरी तो घायल छात्र के हाथ-पैर बंधे मिले। वह गंभीर रूप से घायल भी था

बही , पुलिस अधीक्षक (पूर्वी क्षेत्र) अवधेश गोस्वामी ने बताया कि आरोपियों की पहचान आकाश रत्नाकर (24), विजय परमार (20) और रोहित परेता (23) के रूप में हुई है। गोस्वामी ने बताया कि रत्नाकर का एक लड़की से पिछले तीन वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा है। उसे शक था कि मृदुल भल्ला नामक युवक उसकी प्रेमिका को रिझाने की कोशिश कर रहा है।

उन्होंने आरोपों के हवाले से बताया कि भल्ला को रास्ते से हटाने के लिये रत्नाकर ने उसे अपने दो साथियों की मदद से 7 जनवरी को परदेशीपुरा क्षेत्र से अगवा कर कार में बैठाया और पेडमी गांव के नजदीकी जंगल में ले गये। हत्या की नीयत से उसके सिर पर पत्थर से चोट पहुंचायी गयी और खाई में धकेल दिया गया।

गोस्वामी ने बताया कि भल्ला मूलतः सागर जिले का रहने वाला है और इंदौर के एक कॉलेज में पढ़ रहा है। उसके पिता ने जब नौ जनवरी को परदेशीपुरा थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी, तो पुलिस ने जांच शुरू की।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।