प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बीकानेर भूमि घोटाले मामले में मनी लॉन्ड्रिंग जांच के संबंध में रॉबर्ट वाड्रा से कथित तौर पर जुड़े एक शख्स के हरियाणा स्थित फरीदाबाद के ठिकाने की तलाशी ली है। राजधानी दिल्ली से सटे फरीदाबाद में ईडी के अधिकारियो ने महेश नागर के ठिकाने की तलाशी ली।

आपको बता दें कि नागर, मेसर्स स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड से जुड़ा है जिसके संबंध कथित तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई राबर्ट वाड्रा से हैं। बीते साल दिसंबर में ईडी ने नागर के करीबी अशोक कुमार को एक अन्य शख्स जयप्रकाश बगड़वा के साथ गिरफ्तार किया था।

बताया जा रहा है कि रॉबर्ट वाड्रा की तरफ से जमीन खरीदने की कानूनी अथॉरिटी कांग्रेस नेता महेश नागर के पास थी। वहीं फर्जी किसान के रूप में भी जो अधिकार दिए गए थे। वे महेश नागर के ड्राइवर अशोक के पास थे। इस प्रकार फर्जीवाड़ा कर जमीन खरीदी जा रही थी।

उल्लेखनीय है कि सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा पर फर्जीवाड़ा कर जमीन खरीदने के आरोप लगते रहे हैं। कहा जा रहा है कि यह जमीनें देश के कई हिस्सों में खरीदी गई है। इनमें राजस्थान और हरियाणा प्रमुख हैं। स्मरण रहे कि जब यह जमीनें खरीदी गई तब इन दोनों राज्यों में कांग्रेस की सरकार थी। मोदी सरकार के आने के बाद इन जमीन घोटालों की जाँच शुरू हुई तो एक -एक कर सब सच्चाई धीरे -धीरे सामने आने लगी है।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।