EPFO करेगा हर किसी का मकान खरीदने का सपना पूरा, 10 लाख घर बनाए जाएंगे


नई दिल्‍ली : मकान खरीदना हर किसी का सपना होता है, इस सपने को पूरा करने के लिए कितनी कठिनाइयों से गुजरना पड़ता है, लेकिन टेंशन लेने वाली बात नहीं है कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) की हाउसिंग स्‍कीम के जरिए 10 लाख घर बनाए जाएंगे। ईपीएफओ मेंबर्स हाउसिंग स्‍कीम के जरिए ये घर खरीद सकेंगे। वहीं हाउसिंग एंड अरबन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (हुडको) ईपीएफओ मेंबर्स को घर खरीदने के लिए को रियायती दर पर लोन तैयार कराएगी।

ईपीएफओ के सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर डॉ वीपी जॉय ने बताया कि ईपीएफओ हाउसिंग कोऑपरेटिव सोसायटी बनाएगा। हाउसिंग सोसायटी अगले दो साल में 10 लाख घर बनाएंगी। इसके अतिरिक्त ईपीएफओ हुडको के साथ समझौता करेगा। 10 सदस्‍यों की हाउसिंग सोसायटी बनाने का मकसद यह है कि हाउसिंग सोसायटी किसी बिल्‍डर से घर की कीमतों को लेकर मोलभाव कर सकेगी। वहीं इंडीविजुअल मेंबर के लिए ऐसा करना मुश्किल होगा।

ईपीएफओ मेंबर घर खरीदने के लिए होम लोन पर सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकता है। हुडको मेंबर को 2.20 लाख रुपए तक की सब्सिडी मुहैया कराएगा। सब्सिडी लेने के लिए मेंबर सरकारी बैंक, प्राइवेट सेक्‍टर के बैंक, कोऑपरेटिव बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों से लोन ले सकता है।

अधिकारी के मुताबिक चूंकि श्रम मंत्रालय ने इस संदर्भ में अधिसूचना जारी की है, ऐसे में योजना में संशोधन हो गया है। नए प्रावधान के जरिए ईपीएफओ अंशधारक कम-से-कम 10 सदस्यों वाले सहकारी या हाउसिंग सोसायटी के सदस्य के रूप में मकान या फ्लैट खरीदने अथवा मकान बनवाने और जगह खरीदने के लिए ईपीएफओ खाते में जमा अपनी राशि में से 90% तक निकाल सकते हैं।

हालांकि पीएफ खाते से निकासी सुविधा उन्हीं सदस्यों के लिए उपलब्ध होगी, जो निर्धारित शर्तों को पूरा करते हों। अगर सदस्य इस प्रावधान का उपयोग करने के लिए आवेदन देता है तो इसके लिए जरूरी है कि उसने कम-से-कम तीन साल कोष में योगदान किया हो। यह सुविधा एक ही बार मिलेगी।