असम में गुस्साई भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए। लोग एक व्यक्ति की कथित पुलिस हिरासत में मौत के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिंसा पर उतर आए थे। हिंसक भीड़ को तीतर बीतर करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। भीड़ के हमले में पुलिस व अन्य सुरक्षा बलों के कुछ अधिकारी घायल हो गए। घायलों में पुलिस उपाधीक्षक भी शामिल है। धुला के आसपास के इलाकों में बेमियादी कर्फ्यू लगा दिया गया हैएताकि हिंसा आगे ना फैले।

हालांकि इलाके में स्थिति नियंत्रण में है लेकिन तनाव अभी भी बना हुआ है। राज्य सरकार ने उन परिस्थितियों की मजिस्टेरियल जांच का आदेश दिया है जिनके तहत पुलिस को फायरिंग करने पड़ी और उसमें एक नागरिक की मौत हो गई। हिंसा सुबह उस वक्त शुरु हुई जब सैंकड़ों लोग हसेन अली की मंगलवार को हुई मौत के बाद धुला पुलिस थाने के समक्ष एकत्रित हो गए।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पड़े पंजाब केसरी अख़बार