पणजी : गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज कहा कि उनकी सरकार खनन ​लीज की नीलामी सहित सभी विकल्पों पर विचार करेगी ताकि उच्चतम न्यायालय के फैसले का असर खनन उद्योग पर नहीं हो। उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने गोवा में 88 लौह अयस्क खनन लीजों के दूसरी बार के नवीनीकरण को कल निरस्त कर दिया। शीर्ष अदालत ने कहा कि वाणिज्यिक गतिविधियां कर रही कंपनियों का एकमात्र उद्देश्य अधिक से अधिक मुनाफा कमाना है न कि इससे जुड़े सामाजिक उद्देश्यों को पूरा करना।

पर्रिकर ने कहा, ‘सभी संभव विकल्पों पर विचार किया जाएगा। मैं नीलामी की संभावना को खारिज नहीं कर रहा हूं, लेकिन मैं इसकी पुष्टि भी नहीं कर रहा। अभी कई विकल्प हैं। हमें सम्बद्ध लोगों के साथ इस पर ​उचित रूप से विचार विमर्श करना होगा।’ उन्होंने कहा कि न्यायालय ने अयस्क के निर्यात पर रोक नहीं लगायी है।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करे।