रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी !


नई दिल्ली : रेलवे यात्रियों के लिए अच्छी खबर है क्योंकि सरकार ने ऑनलाइन बुकिंग पर सर्विस चार्ज को माफ करने की समय सीमा बढ़ा दी है। टिकटों की डिजिटल बुकिंग को प्रोत्साहित करने के लिए पिछले साल 2016 की नवंबर में सरकार ने रेल टिकट के लिए सेवा शुल्क बंद कर दिया था। जिसे 30 जून तक के लिए माफ किया गया था, अब उसकी समय सीमा को बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया गया है।

बुकिंग के लिए सेवा शुल्क 20 से लेकर 40 रुपये प्रति टिकट तक
रेल टिकटों की बुकिंग के लिए सेवा शुल्क 20 रुपये से लेकर 40 रुपये प्रति टिकट तक है। सरकार ने शुरू में 23 नवंबर 2016 से 31 मार्च 2017 तक सेवा शुल्क वापस ले लिया था। एक वरिष्ठ रेल मंत्रालय के अधिकारी ने से कहा कि यह सेवा सितंबर के अंत तक बढ़ा दी गई है।

छूट से हो सकता है 500 करोड़ का नुकसान
सरकार ने डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए सेवा शुल्क छूट का विस्तार करने का निर्णय लिया है। इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज़्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी), भारतीय रेलवे की टिकट एजेंसी को छूट के कारण वर्ष में करीब 500 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।

रेल मंत्रालय ने लिखा वित्त मंत्रालय को पत्र
पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार रेलवे मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय को नुकसान के लिए एक प्रतिपूर्ति की मांग करने के लिए पत्र लिखा है। इसके साथ ही विदेशी नागरिक अब 120 दिन की जगह 360 दिन पहले ही ट्रेन की टिकट बुक कर सकते हैं। इसका ऐलान भी अगले कुछ दिनों में हो सकता है।

अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए यह कदम उठाया
यह कदम अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए उठाया गया है। यात्रियों को केवल फर्स्ट एसी और सेंकेंड एसी ट्रेनों में टिकट बुक करने की अनुमति दी जाएगी। विदेशियों को सुविधा ट्रेनों में टिकट बुक करने की अनुमति नहीं दी जाएगी जो आखिरी समय में टिकट बुक करने वाले लोगों के लिए हैं।