गूगल को सभी लोग इसलिए जानते हैं कि वह किसी भी चीज का उत्तर दे सकता है। लेकिन, जब गूगल जैसा सर्च इंजन इतनी बड़ी चूक कर दे तो क्या कहिएगा?। गूगल ने हाल में एक बहुत बड़ी गलती की है।

दरअसल, क्या आप जानते हैं कि भारत के पहले प्रधानमंत्री कौन हैं? आप कहेंगे कि ये भी कोई सवाल हुआ। लेकिन अगर आप गूगल से इस बारे में सवाल करेंगे तो आप कन्फ्यूज हो जाएंगे। जी हां, अगर आप गूगल पर देश के पहले प्रधानमंत्री यानी (India first pm) टाइप करते हैं तो आपको जवाब मिलता है जवाहर लाल नेहरू। लेकिन ठीक उसी बगल में फोटो वर्तमान पीएम नरेंद्र मोदी का दिखाई देता है।

सर्च रिजल्ट में भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में जवाहर लाल नेहरू का नाम बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा है। साथ ही, उनका संक्षिप्त परिचय दिया गया है और विकिपीडिया लिंक भी दिया गया है।

इस पूरे मामले को लेकर लोगों ने ट्विटर पर कई तरह के कमेंट किए हैं। साथ ही, कई लोगों ने Google के एल्गोरिदम पर भी सवाल उठाए हैं। गूगल सर्च रिजल्ट में भारत के पहले फाइनेंस मिनिस्टर में षणमुखम चेट्टी के नाम के साथ उनका संक्षिप्त परिचय दिया गया है, लेकिन इसमें फोटो भारत के मौजूदा फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली का आ रहा है। इसी तरह, भारत के पहले डिफेंस मिनिस्टर से जुड़ा सर्च करने पर नाम बल्देव सिंह का आ रहा है, लेकिन फोटो भारत की मौजूदा रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन का आ रहा है। @sanjivbhatt ट्विटर हैंडल से एक यूजर ने ट्वीट किया है, ‘गूगल सर्च में India First PM टाइप करिए और इसके नतीजे देखिए। ‘

वही , गूगल ने अभी तक लोगों के सवालों का जवाब नहीं दिया है। एक ट्विटर यूजर ने गूगल की इस गलती पर कहा कि गूगल विकिपीडिया का ‘List of Prime Ministers of India’ का पेज दिखा रहा है, जिसमें पहले तस्वीर प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी की है। इसलिए जब इसे छोटी स्क्रीन पर खोला जाता है तो उनकी फोटो ही सबसे ऊपर आ रही है। इस यूजर की दलील को काफी लोगों ने मानने से इनकार कर दिया है। हालांकि अब अगर गूगल पर ऐसा सर्च किया जा रहा है तो केवल पंडित नेहरू का नाम आ रहा है और साथ में कोई तस्वीर नहीं है।

आपको बता दे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर गूगल ने ये कोई पहली बार गलती नहीं की है। इससे पहले साल 2015 में जब गूगल पर दुनिया के 10 बड़े अपराधी सर्च किया जा रहा था, तब उसमें पीएम मोदी की फोटो भी सामने आ रही थी। इसपर काफी बवाल हुआ था जिसके बाद सर्च कंपनी गूगल को माफी मांगना पड़ा था। दुनिया के स्टुपिड प्रधानमंत्री की सूची में भी गूगल ने नरेंद्र मोदी की तस्वीर दिखाई थी। इसपर गूगल ने अपने एल्गोरिदम को जिम्मेदार ठहराया था।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।