J&K विधानसभा में हंगामा, GST का विरोध कर रहे व्यापारियों को लिया हिरासत में


श्रीनगर : जम्मू & कश्मीर विधानसभा में GST पर बहस के दौरान हंगामा खड़ा हो गया। सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों आमने-सामने आ गए। बहस और बयानबाजी के बीच एक दूसरे पर कागज फेंके जाने का सिलसिला भी शुरू हो गया ।

सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि सदन में काले झंडे भी दिखाए गए और इसके बाद सदन में हाथापाई तक हो गई। आरोप है कि विधायक इंजीनियर राशिद ने मार्शलों के साथ मारपीट की गई ।electronic media पर नियंत्रण को लेकर जम्मू & कश्मीर विधानसभा में विपक्षी सदस्यों ने हंगामा किया, जिसके बाद सदन की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई।

जम्मू & कश्मीर में GST को मौजूदा रूप में लागू करने का विरोध करते हुए आज जम्मू & कश्मीर विधानसभा की तरफ मार्च करने की कोशिश करने वाले कई व्यापारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

कश्मीर घाटी के विभिन्न हिस्सों से आए व्यापारी Kashmir Traders and Manufacturers Federation (KTMF) के बैनर तले उच्च सुरक्षा वाले नागरिक सचिवालय के समीप एकत्रित हुए। व्यापारियों ने जब विधानसभा के मुख्य द्वार की ओर मार्च करना शुरू किया, सुरक्षा बलों एवं राज्य पुलिस के जवान तुरंत हरकत में आए और उन्हें आगे बढ़ने से रोक लिया।

कश्मीर पुलिस ने कई व्यापारियों को अपने कब्जे ले लिया लेकिन कुछ ही देर बार व्यापारियों का दूसरे समूह ने भी विधानसभा की ओर बढ़ने का प्रयास किया। उन्हें भी कब्जे में ले लिया गया। इसके कारण बटमालू और सिविल लाइंस के बस स्टैंड के बीच व्यस्ततम मार्ग पर यातायात अवरूद्ध हो गया।

व्यापारी GST के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और उन्होंने सरकार को चेतावनी दी है कि राज्य की विशेष वित्तीय एवं राजनीतिक स्थिति का ध्यान रखे बगैर जीएसटी के क्रियान्वयन की कोशिश की गयी तो गंभीर खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

KTMF के एक प्रवक्ता फरहान ने कहा कि फेडरेशन के अध्यक्ष मोहम्मद यासीन खान और कुछ अन्य नेताओं को कल रात से जारी छापों में गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने खान को आज तड़के उनके घर से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि नेताओं की गिरफ्तारी से कारोबारियों का प्रदर्शन नहीं रुकेगा।

हालांकि GST को लेकर जम्मू और घाटी क्षेत्र के व्यापारी समुदाय दो धड़ों में बंट गये हैं। जम्मू के व्यापारी GST के पक्ष में है वही घाटी के व्यापारी GST के विरोध है ।