दिल्ली से अहमदाबाद लाया गया साल 2008 के बम विस्फोटों का आरोपी 


अहमदाबाद : अहमदाबाद पुलिस की अपराध शाखा साल 2008 में शहर में हुए श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोटों के आरोपी अब्दुल सुभान कुरैशी को दिल्ली से यहां लेकर आयी है। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने एक महीने पहले ही कुरैशी को गिरफ्तार किया था। एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। कुरैशी को विस्फोट मामलों की सुनवाई के लिए स्थापित एक विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया, जिसने उसे 23 मार्च तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है। अहमदाबाद में 26 जुलाई, 2008 को हुए श्रृंखलाबद्ध विस्फोटों में 56 लोगों की मौत हो गई थी और 240 लोग घायल हो गए थे। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) जे के भट्ट ने कहा, “ कुरैशी साल 2008 के विस्फोटों का मुख्य षडयंत्रकर्ता है। वह प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन के संस्थापक रियाज भटकल जैसे फरार आरोपियों के संपर्क में था तथा उसने गिरफ्तार कुछ आरोपियों के साथ मिलकर भी काम किया है।

पुलिस ने अब तक विस्फोट मामले में 81 लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि 13 लोग फरार हैं। भट्ट ने कहा, “ कुरैशी अहमदाबाद के वतवा इलाके में रहता था जहां उसने अन्य आरोपियों को प्रशिक्षित करने और उन्हें भटकाने का काम किया। वह आईएम के मास्टरमाइंड भटकल के संपर्क में था। हमें यह भी पता चला है कि वह हालोल के एक आतंकवादी शिविर और केरल के अन्य शिविर में भी हिस्सा ले चुका है।” वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “ हम उसे वतवा, वडोदरा और उन स्थानों पर ले जाएंगे जहां वह विस्फोट से पहले ठहरा हुआ था। हम यह पता लगाने की कोशिश करेंगे कि वह सिमी और आईएम से कैसे जुड़ा हुआ था और किसने उसकी मदद की।” उन्होंने बताया कि कुरैशी को इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग में डिप्लोमा हासिल था तथा वह तकनीकी रूप से भी जानकार है।

उसने इंटरनेट के जरिए जानकारी हासिल करके विस्फोट में इस्तेमाल हुए विस्फोटक पदार्थ के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। अधिकारी ने बताया कि हो सकता है कि कुरैशी देश में हुए अन्य विस्फोटों में भी शामिल हो। भट्ट ने कहा, “ हमें पता चला है कि अहमदाबाद में विस्फोट के बाद वह नेपाल फरार हो गया था, जहां वह छह साल तक रहा तथा अंग्रेजी पढ़ाने का काम किया। वह सऊदी अरब भी गया। हम यह भी पता लगाने की कोशिश करेंगे कि उसने सऊदी अरब में क्या किया तथा किसने नेपाल में उसकी मदद की।” उन्होंने कहा, “ हम दिल्ली पुलिस के विशेष सेल के साथ संपर्क में हैं। वे पूछताछ दस्ता बना रहे हैं ताकि हम कुरैशी के नेपाल में रहने के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल कर सकें।” कुरैशी को इसी साल जनवरी में पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर से गिरफ्तार किया गया था।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए यहां क्लिक करें ।