महिला के घर पर ‘छापेमारी’ करने के लिए हार्दिक, अल्पेश, जिग्नेश पर मामला दर्ज, धरने पर बैठे 


hardik_jignesh_alpesh

शराब के कथित ठिकाने का भंडाफोड़ करने के लिए छापा मारने पर अपने विरुद्ध मामला दर्ज होने के बाद गुजरात के विधायक अल्पेश ठाकोर तथा जिग्नेश मेवाणी और पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल मद्यतस्करों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए आज धरने पर बैठ गये।

तीनों ने कथित शराब अड्डे का भंडाफोड़ करने के लिए बृहस्पतिवार को गांधीनगर के आदिवडा इलाके में कंचनबेन मकवाना के घर पर छापेमारी करने का दावा किया। उनके अनुसार इससे पहले वे उन चार व्यक्तियों से मिले थे जो अहमदाबाद में कथित रुप से जहरीली शराब पीने के बाद अस्पताल में भर्ती कराये गये थे।

alpesh_jignesh_hardik

उसके बाद मकवाना ने उनके विरुद्ध अनधिकृत तरीके से प्रवेश का मामला दर्ज कराया। अल्पेश ठाकोर, मेवानी और हार्दिक पटेल ने पिछले गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा को टक्कर दी थी। तीनों नेता आज आत्मसमर्पण करने के लिए पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र यादव के कार्यालय गये। पुलिस ने उन्हें तत्काल गिरफ्तार करने से इनकार कर दिया और कहा कि मामले की सघन जांच की जाएगी।

 तीनों ने भाजपा सरकार पर मद्यतस्करों को बचाने का आरोप लगाया। पुलिस अधीक्षक से भेंट करने के बाद वे और उनके साथी धरने पर बैठ गये। उन्होंने उस कथित मद्यतस्कर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जिसके घर पर उन्होंने छापा मारा था। गुजरात में 1960 से ही शराब बंदी है।