गुजरात में व्यापारियों ने जीएसटी के खिलाफ प्रदर्शन किया


एक जुलाई से लागू होने जा रहे वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से जुड़े विभिन्न मुद्दों को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृहराज्य गुजरात में कपड़ा उद्योग तथा किराना और सूखे मेवे के कारोबार से जुड़े कारोबारियों ने आज एक दिन का हड़ताल रखा जिसके चलते राज्य भर में ऐसे सभी बाजार पूरी तरह बंद रहे।

source

जीएसटी के लागू करने के तरीकों तथा इसमें रिर्टन की अधिक संख्या और कर ढांचे का विरोध कर रहे सूरत की टेक्सटाइल संर्घष समिति के संयोजक ताराचंद कासट ने कहा कि शहर में कपड़े के 175 बाजार और 75 हजार करोबारी हड़ताल से जुड़े रहे तथा बंद रहे। उन्होंने कहा कि वह जीएसटी के खिलाफ नहीं है पर इसके तौर तरीकों से संतुष्ट नहीं है। बड़े पैमाने पर कम पढ़े-लिखे लोगों वाले इस धंधे में ऑनलाइन रिटर्न की प्रक्रिया भी जटिलता पैदा करेगी।

source

साल में 37 रिटर्न भरने का नियम भी पेंचीदा है। अहमदाबाद, राजकोट, गोंडल और जेतपुर समेत कपडा उद्योग के अन्य प्रमुख केंद्र पर भी इसका असर देखा गया। उधर ब्रांडेड किराना सामग्री पर पांच प्रतिशत जीएसटी के विरोध में किराना करोबारियों ने भी आज बंद का आयोजन किया। दूसरी तरफ सूखे मेवे के कारोबारियों ने काजू किशमिश को छोड कर अन्य सूखे मेवों पर 12 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगाने के विरोध में बंद का आयोजन किया।