RSS की बैठक से पहले गुजरात पहुंचे मोहन भागवत , सोमनाथ मंदिर के किए दर्शन


mohan-bhagwat

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत अपनी 6 दिवसीय यात्रा के तहत आज सोमनाथ शहर पहुंचे। इस दौरान वह संगठन के पदाधिकारियों की बैठक में हिस्सा लेंगे। संगठन के एक प्रवक्ता ने बताया कि आरएसएस की ‘अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक’ बैठक 15-17 जुलाई के बीच सोमनाथ शहर में होगी। सोमनाथ पहुंचने के बाद भागवत ने प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर में दर्शन किए। सोमनाथ मंदिर देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। सोमनाथ शहर राज्य के गिर सोमनाथ जिले में है। गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सोमनाथ मंदिर न्यास के अध्यक्ष केशुभाई पटेल ने उनका स्वागत किया।

भागवत ने मंदिर में पूजा की और इसके बाद उन्होंने मंदिर परिसर में बनी देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित की। गुजरात आरएसएस के प्रवक्ता विज ठाकर ने बताया कि भागवत आज शाम शहर में आयोजित होने वाले ‘ सामाजिक सद्भाव ’ बैठक की अध्यक्षता करने वाले हैं। बैठक में विभिन्न समुदायों से आने वाले लोग बातचीत करेंगे। उन्होंने बताया कि आरएसएस महासचिव भैयाजी जोशी के आज दिन के आखिर में पहुंचने की संभावना है।

प्रांत प्रचारक बैठक पर ठाकर ने कहा, ‘‘आरएसएस की केंद्रीय कार्यकारिणी समिति के सभी सदस्य, क्षेत्र प्रचारक, प्रांत प्रचारक, जम्मू कश्मीर, पूर्वोत्तर एवं दक्षिण भारत समेत समूचे भारत से आरएसएस के विभिन्न संगठनों के सचिव इस तीन दिवसीय बैठक में हिस्सा लेंगे। ’’ आरएसएस ने अपने प्रशासनिक उद्देश्यों के लिये देश को 12 क्षेत्रों में विभक्त किया है और इन क्षेत्रों को पुन : 39 प्रांतों या राज्यों में बांटा गया है। उन्होंने बताया, ‘‘बैठक के दौरान, संगठन को कैसे मजबूती दी जाये , देश के विभिन्न हिस्सों में आरएसएस द्वारा किये गये कार्यों और भविष्य में की जाने वाले कार्रवाइयों को लेकर चर्चा होगी।’’ ठाकर ने बताया कि बैठक में करीब 200 प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की संभावना है।