बाढ़ नियंत्रण को लेकर प्रशासन सख्त


फरीदाबाद: बाढ़ नियंत्रण व जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण की बैठक उपायुक्त समीरपाल सरो की अध्यक्षता में उनके कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में नगर निगमायुक्त सोनल गोयल, अतिरिक्त उपायुक्त एवं फरीदाबाद के एसडीएम जितेन्द्र दहिया, बल्लबगढ़ के एसडीएम अमरदीप जैन, बडख़ल के एसडीएम रीगन कुमार, आरटीए सचिव आशुतोष राजन, डीसीपी विरेन्द्र विज, भूपेन्द्र सिंह व देवेन्द्र कुमार, जिला राजस्व अधिकारी पी डी शर्मा तथा चीफ वार्डन सिविल डिफैन्स डा. एम पी सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

बैठक को सम्बोधित करते हुए उपायुक्त श्री सरो ने कहा कि आगामी बरसात के मौसम के दौरान सम्भावित बाढ़ के खतरे से निपटने के लिए जिले में यमुना नदी के आस-पास के ग्रामीण क्षेत्र में सभी प्रकार के आवश्यक प्रबन्धों को सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाना अत्यन्त आवश्यक है। सिंचाई विभाग की ओर से यमुना नदी के किनारों पर स्टड्स व बांध आदि की सुविधा से जुड़े आवश्यक प्रबन्धों को भलि.भांति पूरा किया जाये। जिला राजस्व अधिकारी पीण्डीण् शर्मा को बाढ़ नियन्त्रण बारे जिला नोडल अधिकारी बनाया गया है। श्री शर्मा की देखरेख में ही उनके कार्यालय में बाढ़ नियन्त्रण कक्ष संचालित किया जायेगा।

बिजली, पेय जलापूर्ति, खाद्य एवं आपूर्तिए शिक्षाए पशु पालनए स्वास्थ्यए सिंचाई व कृषि विभाग सहित सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारी नदी से ग्रामीण क्षेत्रों में जलभराव के कारण उत्पन्न होने वाली बाढ़ जैसी स्थिति सहित शहरी व अन्य क्षेत्रों में भी जलभराव की परिस्थितियों में अपनी सम्बन्धित सेवाओं को बखूबी व बेहतर ढंग से देंग। बैठक में नगर निगम, हुडा, राजस्व, पंचायत, बिजली वितरण, सिंचाई, दूरभाष, लोक निर्माण, जन स्वास्थ्य, पशुपालनए स्वास्थ्य, कृषि, उद्योग, खाद्य एवं आपूर्ति, रैडक्रास, अग्निशमन, सिविल डिफैन्स व प्रदूषण नियन्त्रण बोर्ड सहित सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

(राकेश देव)