गौ तस्करों का पुलिस टीम पर हमला


सोहना: हरियाली तीज के त्यौहार वाले दिन बुधवार की भोर सवेरे एक टाटा-407 टैंपो में गौकशी के लिए गाय भरकर ले जा रहे गौ तस्करों को पुलिस ने घेर लिया। अपने को पुलिस से घिरा देख गायों के ऊपर बैठे गौ तस्करों ने पुलिस पर पत्थरों की बौछार कर पथराव शुरू कर दिया लेकिन जब पुलिस ने घेराबंदी कर गौ तस्करों को पकडऩे का प्रयास किया तो गौ तस्करों ने पुलिस पर फायरिंग झोक दी। जिस पर आत्मरक्षा में पुलिस को भी फायरिंग करनी पड़ी। गौ तस्करों और पुलिस के बीच हुई कई राउंड की फायरिंग में पुलिस के 2 जवान घायल हुए है, जिनके नाम हैड कांस्टेबल मनोज कुमार और कांस्टेबल मूलचंद बताए गए है। दोनों घायलों को उपचार के लिए एक अस्पताल में ले जाया गया है। पुलिस की जवाबी फायरिंग से घबराए गौ तस्कर गायों से भरा टाटा टैंपो छोड़ अपनी जान बचा जैसे-तैसे भागने में कामयाब रहे है। पुलिस का कहना है कि भागे गौ तस्करों में से 10 की पहचान हो गई है जबकि अन्य की पहचान के प्रयास जारी है।

फिलहाल पुलिस ने इस मामले में पुलिस पर जानलेवा हमला बोलने, हत्या का प्रयास करने, सरकारी कार्य में बाधा डालने, अवैध रूप से हथियार रखने समेत भादस की विभिन्न आपराधिक धाराओं 307, 332, 353, 317, आम्र्स एक्ट तथा गौ संवर्धन एवं गौ संरक्षण कानून के तहत 3/13(1), 8/13(3), 17 के अंतर्गत गांव अड़बर के रहने वाल राहुल पुत्र रूजदार, रूजदार पुत्र मोहरू, शकील, इशाक, आबिद पुत्र गुहेरा तथा कयूब गांव हुसैनपर, रफीक गांव उटावट, वसीम उर्फ बैनी गांव टाई, आरिफ गांव चीला, इदरीस उर्फ मैनू निवासी गांव गांधीग्राम घासेड़ा के खिलाफ नामजद मुकदमा पुलिस ने दर्ज कर लिया है जबकि इनके अन्य साथियों की पहचान की जा रही है ताकि पहचान कर उन्हे भी जल्द पकड़ा जा सके। गौ तस्करों के पुलिस पर फायरिंग झोकने और 2 जवानों के घायल होने से जाहिर है कि प्रदेश में गौ तस्करी और गौकशी के खिलाफ कड़ा कानून बनने के बावजूद चंद गौ तस्कर कम समय में करोड़पति बनने की चाहत में गौ तस्करी व गौकशी जैसे घृणित कार्य से बाज नही आ रहे है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाली तीज के त्यौहार वाले दिन बुधवार की भोर सवेरे गौरक्षा के लिए बनाई गई पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स में कार्यरत इंस्पेक्टर रतनलाल को मुखबिर खास से सूचना हाथ लगी कि गौ तस्कर एक टाटा-407 टैंपो में गायों को भरकर गौकशी के लिए राजस्थान की तरफ निकलने वाले है। सूचना को सही मान सहायक सब इंस्पेक्टर सतबीर सिंह, बलबीर सिंह, अमर सिंह, परमिन्द्र, मनोज कुमार, महीपाल, मूलचंद पर आधारित पुलिस टीम बताए गए रास्ते पर कई जगह छुपकर खड़ी हो गई और जैसे ही पुलिस ने सामने से आ रहे टाटा-407 को रूकने का संकेत किया, पुलिस को देख टाटा टैंपो चालक ने पिकअप को तेज रफ्तार में दौड़ा लिया। पुलिस टैंपो को पकडऩे के लिए उसके पीछे लग गई। जब गौ तस्करों ने देखा कि पुलिस टीम उनसे कुछ दूर रह गई है तो उन्होने टैंपों में भरी गायों के ऊपर बैठकर पुलिस टीम पर नुकीले पत्थर बरसाने शुरू कर दिए लेकिन पथराव के बावजूद पुलिस टीम ने उनका पीछा नही छोड़ा तो अपने को पुलिस से घिरा देख गौ तस्करों ने पुलिस टीम पर फायरिंग झोकनी शुरू कर दी।

– उमेश गुप्ता