किसानों की मांगों को लेकर लघु सचिवालय पर प्रदर्शन किया


पलवल: भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसान कर्जा मुक्ति यात्रा के तहत लघु सचिवालय पर प्रदर्शन कर अतिरिक्त उपायुक्त को ज्ञापन दिया गया। यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष शमशेर सिंह दहिया व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बलविंदर सिंह वाजवा ने किसानों की मांगों को प्रमुखता से उठाया । पलवल लघु सचिवालय पर किसानों को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन प्रदेश अध्यक्ष शमशेर सिंह दहिया ने कहा कि प्रदेश सरकार के किसान विरोधी नितियों के चलते आज किसान कर्ज के बोझ में दबा हुआ है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू नहीं कर रही हैं जिससे किसान संगठनों को आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

उन्होने कहा कि किसान यूनियन की चार प्रमुख मांगें हैं जिसमें पूरे प्रदेश के किसान कर्ज मुक्त हों व किसानों को फसलों की मूल्य लागत के साथ 50 प्रतिशत लाभ दिया जाए। भूमि अधिगृहण अधिनियम एक जनवरी 2014 के सैकशन 24 दो के तहत सभी किसानों की अधिग्रहित जमीन दोबारा से भूमि रिकॉर्ड में दर्ज कि जाए तथा दो एकड़ से कम खेती वाले किसानों को बीपीएल की श्रेणी में लाया जाए इन सभी मांगों को लेकर 28 जुलाई से किसान यात्रा पूरे प्रदेश में चल रही हैं 6 अगस्त को हरियाणा के सीएम को अपना मांगपत्र सौंपा जाएगा और यदि सरकार ने उनकी मांगों को नहीं माना तो 9 अगस्त से 15 अगस्त तक हमारी यूनियन प्रदेश के सभी किसान संगठनों को साथ लेकर जेल भरों आंदोलन करेंगी तथा दो अकटूबर को संसद का घेराव किया जाएगा।

– भगत सिंह तेवतिया