वायरल आडियो पर डीजी विजीलेंस करेंगे जांच


inld

तथाकथित भ्रष्टाचार के वायरल हुए आडियो पर प्रदेश सरकार ने डीजी विजीलेंस को जांच सौंपते हुए एक माह में अपनी रिपोर्ट देने के निर्देश दे दिए हैं। लगातार दूसरे दिन विधानसभा में पेहोवा नगर पालिका प्रधान अशोक सिंगला और पूर्व मंत्री बलबीर सिंह के बीच हुए बातचीत की आडियो पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा क्लीन चिट देने पर इनेलो ने जमकर हंगामा करते हुए सरकार को घेरने की कोशिश की। लगातार गहमा-गहमी के बीच विधानसभा अध्यक्ष द्वारा नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला समेत 15 विधायकों को पूरे बजट सत्र के लिए नेम कर दिया।

गत दिवस तथाकथित भ्रष्टाचार के वायरल आडियो पर इनेलो नेताओं ने लगातार दूसरे दिन मुद्दा भुनाने की भरपूर कोशिश की। सोमवार की कार्रवाई हंगामे की भेंट चढने के बाद मंगलवार को इनेलो नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला के साथ-साथ कांग्रेसी विधायक इस मामले में हरियाणा लोकसेवा आयेाग के चेयरमैन भारत भूषण भारती को पद से हटाने और मामले में पुलिस केस दर्ज करने की मांग पर अड़े रहे। अभय चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर के उस बयान पर आपत्ति जताई कि सीएम एक ओर तो मामले की जांच की बात कह रहे हैं और दूसरी और वे भारत भूषण भारती को क्लीन-चिट भी दे रहे हैं।

इस पर स्पीकर कंवरपाल गुर्जर ने कहा, सीएम ने स्पष्ट कहा था कि मामले की निष्पक्षता से जांच होगी और जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। क्लीन-चिट देने की बात नहीं की गई। अभय इस बात पर अड़ गए और उन्होंने मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए क्लीन-चिट को ही मुद्दा बना लिया। इसके बाद हंगामे के बाद विस अध्यक्ष द्वारा 15 मिनट के लिए सदन की कार्रवाई स्थगित की गई। इसके तुरंत बाद 15 मिनट सदन स्थगित रहने के बाद शुरू हुई कार्रवाई में इनेलो विधायक जसविंद्र संधु ने दुबारा आवाज उठाई।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।