कल्पना मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने मीडिया कर्मियों के साथ की मारपीट


करनाल: सीएम सिटी के कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में डाक्टरों की गुंदागर्दी थमने का नाम ही नहीं ले रही। शुक्रवार डॉक्टर द्वारा मरीज की पटाई के बाद कवरेज करने के लिए आये मीडिया कर्मियों के साथ मारपीट डॉक्टरों ने न केवल मारपीट की बल्कि कैमरे तक तोड़ डाले। डॉक्टरों की हेवानियत की ये पूरी घटना मीडिया कर्मियों के कैमरे में कैद हो गई। इस घटना सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी है। इस घटना से जिला के समस्त मीडिया कर्मियों में जबरदस्त अक्रोश है। जानकारी के अनुसार सुबह शामगढ़ निवासी कर्म सिंह को एपनडिक्स का दर्द था। वह इलाज के लिए कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में आया था। बताते है कि उसके पेट में काफी दर्द था। वह आपातकाल विभाग में डॉक्टरों के पास इलाज कराने के लिए पहुंचा, तो वहां पर मौजूद डाक्टर ने उसे ओपीडी में भेज दिया।

ओपीडी के डॉक्टरों ने उसकी पर्ची बनाकर उसे इंजेक्सन लगवाने के लिए दोबारा आपातकाल विभाग में भेज दिया। मरीज ने डॉक्टर से कहा की उसको पेट में काफी दर्द है उसकी हालत बिगड़ती जा रही है, लेकिन डॉक्टरों ने उसका इलाज करने की बजाये झगड़ा करना शुरू कर दिया। बात इतनी बड़ गई कि अस्पताल में हंगामा खड़ा हो गया। कई डॉक्टरों ने मिलकर मरीज को परदे के पीछे ले गए और उसकी जमकर धुनाई शुरू कर दी। इसकी सूचना जैसे ही मीडिया कर्मियों को पता चला, तो वे भी कवरेज करने के लिए पहुंचे। इस दौरान जैसे पत्रकार अपने साथी को बाहर कैमरा देकर अंदर मामले की जानकारी लेने के लिए पहुंचे। पत्रकार पीडि़त मरीज से बात चीत कर ही रहे थे कि इतने में मौके पर मौजूद डाक्टरों ने पत्रकार को पकड़कर बुरी तरह से मारपीट शुरू कर दी और गाली गलोच की।

पत्रकार से मारपीट होता देख बाहर खड़े मीडिया कवरेज करने लगे, तो डाक्टरों ने प्रमुख अखबारों के छायाकार पर भी हमला बोल दिया और उनके कैमरे छीनकर जमीन पर मारकर तोड़ दिये। इतना ही नहीं डॉक्टर इस कदर हेवानियत पर उतर आये कि वहां पर महिला व अन्य मरीजों को भी नहीं छोड़ा और उनके साथ भी मारपीट की और उनके मोबाइल फोन तोड़ दिये। सूचना पाकर डीएसपी शकुंतला देवी व सिविल लाइन थाना प्रभारी मोहन लाल घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जांच आरंभ कर दी। पीडि़त मीडिया कर्मियों ने इसकी शिकायत पुलिस को दे दी है। पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है। स्मरण रहे कि गत दिनों मरीज के साथ डॉक्टर द्वारा मारपीट करने का मामला सामने आया था। जिसका घरौंडा के विधायक हरविंद्र कल्याण ने संज्ञान लेते हुए मेडिकल कॉलेज का दौरे कर मरीजों की शिकायतें सुनी और उन्हें उचित कार्रवाई करने का आश्वास दिलाया था, लेकिन उसके बावजूद भी डॉक्टरों की गुंडागर्दी बदस्तूर जारी।

– आशुतोष गौतम