बेहतरीन बिजली व्यवस्था के लिए उठाए गए कारगर कदम


करनाल: निर्बाध रूप से बिजली की सप्लाई देने के लिए सरकार द्वारा समूचे हरियाणा प्रदेश में बेहतरीन कदम उठाए गए है। करोड़ों रूपये की लागत से बिजली व्यवस्था की क्षमता और दक्षता बढ़ाने के लिए कार्य जारी है। यह बात हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रविवार को स्थानीय पंचायत भवन से सेक्टर-32 और सेक्टर-4 में बनने वाले 33-33 के वी क्षमता के बिजली घरों के निर्माण के लिए शिलान्यास पट्टों का अनावरण करने उपरांत उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों बिजली घरों के निर्माण कार्यो पर लगभग 8 करोड़ रूपये की धनराशि खर्च होगी और इनका निर्माण कार्य निर्धारित समय में पूरा करवाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंजपुरा रोड़ स्थित 220 केवी क्षमता के मुख्य बिजली घर की क्षमता बढ़ाई गई है ताकि शहर में स्थाई कटों से छुटकारा मिल सके। इस बिजली घर में 100 एमवीए क्षमता का एक नया ट्रांसफार्मर लगा दिया गया है। इससे शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र को भी निर्बाध रूप से बिजली की सप्लाई शुरू हो गई है। उच्च क्षमता वाले 100 एमवीए के ट्रांसफार्मर से 132 केवी सबस्टेशन करनाल, डबरी, रम्बा तथा नेवल से चलने वाले सभी 11 केवी फीडरों व 33 केवी सबस्टेशनों को बेहतर बिजली सप्लाई शुरू हो गई है। इस व्यवस्था पर लगभग 4 करोड़ रूपये की धनराशि खर्च हुई है और अब इस स्टेशन की क्षमता भी 200 से बढकऱ 300 एमवीए हो गई है।

उन्होंने कहा कि इसी परिसर में 33 केवी क्षमता के नये सबस्टेशन का निमार्ण कार्य जोरों पर है। इसमें साढ़े 12 एमवीए क्षमता के दो ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। गत मई माह में इस सबस्टेशन की आधारशिला रखी गई थी,इसका निर्माण कार्य इसी वर्ष अक्तूबर माह तक पूरा करने के निर्देश दिये गए है। इस कार्य पर लगभग 3 करोड़ रूपये खर्च होंगे। इस सबस्टेशन के बनने से कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज,मॉडल टाउन,सेक्टर-9,आरके पूरम,शक्ति कालोनी,अशोका कालोनी,सेक्टर-13 और 14,अल्फा सिटी तथा कर्ण लेक क्षेत्र के उपभोक्ताओं को सीधा फायदा पहुंचेगा। इस मौके पर डीसी डा0आदित्य दहिया और बिजली वितरण निगम के कार्यकारी अभियंता एम के मक्कड़ ने मुख्यमंत्री को बताया कि सेक्टर-32 में 33 केवी क्षमता का नया बिजली घर लगभग 1 .2 एकड़ जगह पर बनेगा। इस सबस्टेशन पर करीब 3 करोड़ 88 लाख रूपये की लागत आयेगी। इसमें प्रथम चरण में साढ़े 12 एमवीए क्षमता का ट्रांसफार्मर स्थापित किया जाएगा और नगला मेघा से लेकर सेक्टर-32 तक करीब 12 कि0मी0 लम्बी नई लाईन खींची जाएगी। इस सबस्टेशन के बनने से सेक्टर-32-33,नरसी विलेज पार्ट-एक-दो,सेक्टर-8 के पार्ट दो के उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा।

मूल विषय पर उन्होंने यह भी बताया कि सेक्टर-4 में बनने वाले 33 केवी क्षमता के नये सबस्टेशन में 10 एमवीए का ट्रांसफार्मर लगेगा और मधुबन से सेक्टर-4 तक लगभग 8 कि0मी0 लम्बी तारों की लाईन खींची जाएगी। इस पर करीब 4 करोड़ रूपये की लागत आएगी। इस स्टेशन के बनने से सेक्टर-4 व 5,विकास कालोनी,गोपी वाली गामड़ी,असंल के उपभोक्ताओं को फायदा पहुंचेगा। इतना ही नहीं मेरठ रोड़ स्थित 33 केवी क्षमता के बिजली घर में पहले 10-10 एमवीए क्षमता के दो ट्रांसफार्मर लगे हुए थे,उनका भार कम करने के लिए साढ़े 12 एमवीए क्षमता के दो नये ट्रांसफार्मर स्थापित किये जा चुके है और इन ट्रांसफार्मरों से बिजली की सप्लाई शुरू हो चुकी है।

इस सबस्टेशन से सेक्टर-14,7,4,5,डीसी कालोनी,अशोक नगर,महाराणा प्रताप चौंक,कर्ण गेट,मीरा घाटी,मोती नगर,कलंदरी गेट,अर्जुन गेट,पुरानी सब्जी मंडी,सर्राफा बाजार,चौड़ा बाजार,सूरज नगर, रामपुरा, कटाबाग, विकास नगर,रावर रोड़ तथा मेरठ रोड़ के बिजली उपभोक्ताओं को लाभ मिलना शुरू हो गया है। अब इस क्षेत्र के लोगों को स्थाई कटों से छुटकारा मिल गया है। इस अवसर पर हैफेड़ के चेयरमैन हरविन्द्र कल्याण,ओएसडी अमरेन्द्र सिंह,नीलोखेड़ी के विधायक भगवान दास कबीरपंथी,शुगरफैड के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश कथूरिया,केडीबी के मानद सचिव अशोक सुखीजा,नगर निगम की मेयर रेनू बाला गुप्ता,डीसी डा0आदित्य दहिया,एसपी जश्रदीप सिंह रंधावा,अधीक्षक अभियंता ए.के. रहेजा सहित कईं गणमान्य लोग मौजूद थे।

– बागी, आशुतोष गौतम