प्राचीन विरासतों के संरक्षण के लिए सरकार प्रतिबद्ध


पिहोवा: सीएम मनोहर लाल ने कहा कि प्राचीन विरासतों के संरक्षण के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। आने वाली पीढ़ी अपनी संस्कृति से रूबरू हो सके इसके लिए प्रदेश की सभी प्राचीन घरोहरों को सहेजने में सरकार लगी हुई है। सीएम गांव थाना में प्रदेश के पहले स्वर्ण जंयती ब्रह्मसरोवर कम्युनिटी रिजर्व के शिलान्यास अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि गांव थाना में ब्रह्मसरोवर कम्युनिटी रिजर्व का जीणोद्धार लगभग 7.5 करोड़ रुपए की लागत से किया जाएगा। इस रिजर्व पर एक कौशल विकास केंद्र की भी स्थापना की जाएगी, जिसमें स्थानीय गांव थाना और आस-पास के गांवों के युवाओं एवं स्वयं सहायता समूहों को उनके कौशल विकास एवं रोजगार उत्पादन व उन्हें स्वाबलंबी बनाने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि वह इस क्षेत्र में आने वाले पर्यटकों तथा तीर्थ यात्रियों को ब्रह्मसरोवर में पाए जाने वाले प्रवासी पक्षियों एवं अन्य जीवों के बारे में मार्गदर्शन दे सके।

इस ब्रह्मसरोवर के विकसित होने से ग्रामवासियों को भी आजीविका मिलेगी और उनका उत्थान होगा और यह गांव देश के मानचित्र पर भी उभरेगा। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वे वन व वन्य जीवों के सरंक्षण में अपना सहयोग दे ताकि प्राणियों का संरक्षण हो सके। इससे पूर्व वन एवं वन्य प्राणी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री सुनील गुलाटी ने बताया कि इस परियोजना के लिए लगभग 7.5 करोड रुपए की राशि खर्च की जाएगी, जिसमें से 1 करोड रुपए की राशि आंवटित कर दी गई है।उन्होंने कहा कि ब्रह्मसरोवर को रिजर्व बनाने के लिए थाना गांव की पंचायत ने एक प्रस्ताव दिया था,जिसके तहत आज मुख्यमंत्री ने इस परियोजना का शिलान्यास किया है। सीएम ने पौधा रोपण किया और विभाग द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

– सतपाल रामगढिय़ा