हरियाणा के पांच जिलों में एफपीएस लागू


चंडीगढ़ : हरियाणा के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के राज्य मंत्री कर्णदेव कम्बोज ने आज कहा कि राज्य सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) को पारदर्शी बनाने और राशन डिपुओं से भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिये इसी माह से पांच जिलों में फेयर प्राईत्र प्रणाली ओटोमेशन (एफ पीएस) शुरू की है जिसे एक जुलाई से इसे पूरे राज्य में शुरू कर दिया जाएगा।

श्री कम्बोज ने यहां एफ पीएस ओटोमेशन प्रणाली को लेकर खाद्य पूर्ति विभाग के अधिकारियों, पार्षदों, सरपंचों की एक संयुक्त बैठक को सम्बोधित करते हुये यह बात कहीं। इस प्रणाली के तहत सभी राशन कार्डों को आधार से जोड़ा जाएगा और उपभोक्ता अपना राशन प्रदेश के किसी भी क्षेत्र में जाकर किसी भी डिपो से ले सकेंगे।

उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं उपभोक्ताओं द्वारा पंजीकृत कराए गए मोबाइल नम्बर पर हिंदी भाषा में एसएमएस अलर्ट भी मिलेंगे जिनमें गोदाम से अनाज चलने और डिपुओं तक पहुंचने तथा राशन वितरित करने की जानकारी उन्हें मिलेगी। मंत्री ने कहा कि पीडीएस से राज्य के गरीब लोग जुड़े हुए हैं और राज्य सरकार यह प्रतिबद्धता है कि हर गरीब तक शत-प्रतिशत लाभ पहुंचे।

उन्होंने कहा कि एफपीएस ऑटोमेशन को पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर गत अप्रैल में अम्बाला में शुरु किया गया जिसके सार्थक परिणाम आने पर इसे अब कुरुक्षेत्र, कैथल, हिसार, भिवानी और पंचकूला में लागू किया गया है तथा आगामी एक जुलाई से पूरे राज्य में लागू कर दिया जाएगा।

– वार्ता