छात्राओं ने रीजनल सेंटर पर जड़ा ताला


जाटूसाना: क्षेत्र के निकटवर्ती गाँव लूला अहीर में स्थित महिला रीजनल सैंटर की छात्राओ ने शुक्रवार प्रात: स्टाफ की आपसी रजिंश एवं नियमित स्टाफ की मांग को लेकर रीजनल संैटर पर ताला जड़ कर गेट के बाहर नारेबाजी शुरू कर दी। छात्राओं ने आज होने वाली परीक्षा का भी बहिष्कार कर दिया हैं। सूचना पाकर मौके पर प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे। गांव लूला अहीर में रीजनल सैंटर की छात्राओं द्वारा परीक्षा का बहिष्कार करने एवं गेट पर ताला लगाने की सूचना पाकर मौके पर गांव के लोग भी पहुंच गए तथा गेट पर ताला लगाए बैठी छात्राओं को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह इस बात पर अड़ गई कि इस रीजनल सैंटर में कार्यरत प्रवक्ता डॉ. अनिल यादव को ही इस सैंटर का इंचार्ज बनाया जाए। सूचना पाकर पर नाहड़ चौकी पुलिस एवं कोसली थाना से महिला पुलिस कर्मचारी मौके पर पहुंचे और मैन गेट पर ताला जडे बैठी छात्राओं को मनाने का प्रयास किया लेकिन छात्राए अपनी बात पर अड़ी रही।

इसके बाद कोसली से नायब तहसीलदार विजय सिहं पहुंचे तथा छात्राओं की सभी मांगे लिखित रूप में देने को कहा जिस पर छात्राओं ने लिखित शिकायत देने से मना कर दिया। इसके बाद भगत फूल सिहं विश्वविधालय खानपुर से सैंटर से डायरेक्टर वीना गर्ग एवं दो तीन अन्य महिला कर्मचारी मौके पर पंहुची, लेकिन उन्हे देखते ही छात्राओं ने वीसी हाय-हाय नारेबाजी शुरू कर दी तथा मागं रखी कि जब तक पूर्व में इस सैन्टर में कार्यरत प्रवक्ता अनिल यादव को रीजनल सैंटर का चार्ज नहीं मिल जाएगा वे ना तो गेट का ताला खोलेगी और ना ही परीक्षा देगीं।

इसके बाद डायरेक्टर ने पंचायत के प्रतिनिधियों एवं नायब तहसीलदार से बातचीत करने के पांच घंटे बाद रीजनल सैंटर का ताला खोला तथा छात्राओं को अतिरिक्त समय देकर परीक्षा के लिए सैंटर में बैठाया गया। गौरलतब है कि छात्राओं की मेहनत रंग लाई तथा आखिरकार डॉ. अनिल यादव को रीजनल सैंटर का इंचार्ज बनाया गया।

-बिरेन्द्र पठानिया