GST सुधारेगा देश की आर्थिक स्थिति


गुरुग्राम: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से देशभर में 10 लाख रोजगार पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि इसके लागू होने से आईटी, सीए और जीएसटी से जुड़े लोंगो को रोजगार मिलेगा। उन्होंने चार्टर्ड एकाउंटेंट्स से अपील करते हुए कहा कि आने वाले तीन महीनों में आप जीएसटी से संबंधित लोगों की शंकाए दूर करें तथा देश की आर्थिक प्रगति में अपनी अहम भूमिका निभाएं। मुख्यमंत्री आज गुरुग्राम के सेक्टर-44 स्थित अपैरल हाऊस में भारतीय चार्टर्ड अकाउंटेंट संस्थान द्वारा आयोजित चार्टर्ड एकाउंटेंट्स दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

सीएम ने कहा कि जीएसटी आजाद भारत में एक बड़ा बदलाव है। जीएसटी से देश की आर्थिक स्थिति और मजबूत होगी तथा अपना देश आर्थिक रूप से दुनिया के कई अन्य देशों की समकक्ष आ जाएगा। उन्होंने कहा कि आजाद भारत में चौथी बार जीएसटी लागू होने के संबंध में आधी रात को संसद का सत्र मिलाकर इसे सैलिबे्रट किया गया। इससे पहले 14 व 15 अगस्त 1947 को, देश की आजादी के 25 और 50 साल पूरे होने पर इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये गए थे। उन्होंने कहा कि देश के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स अपनी विशेषता से आने वाली संशयों को दूर करेंगे। उन्होंने कहा कि जीएसटी को लागू करने के लिए जो पोलिटिकल विल चाहिए थी उसके अनुसार देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लागू किया है। उन्होंने कहा कि सिस्टम में ट्रांसपैरेंसी होगी तो देश आगे बढ़ेगा।

जिस प्रकार से आधार, जन धन योजना, नीति आयोग के साथ साथ 8 नवंबर, 2016 को नोटबन्दी एक बड़ा कदम था और अब 1 जुलाई 2017 को जीएसटी लागू किया गया है। उन्होंने कहा ट्रांसपैरेंसी होगी तो दुबिधा भी नही होगी और जीएसटी से ट्रैकिंग सिस्टम होगा और पारदर्शिता बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि इससे हम विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि 1947 में 1 रुपया 1 डॉलर के बराबर था परंतु हम अब पिछड़ते जा रहे है। उन्होंने कहा कि लाखों लोगों तक व सामान्य व्यक्ति तक हमें पहुंचना होगा। आर्थिक प्रबंधन से ही समान्य व्यक्ति को आगे ले जाया जा सकता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने संस्थान को उनकी मांग पर गुरुग्राम में एक प्लाट देने की भी घोषणा की।

– सतबीर भारद्वाज