विश्वविद्यालयों और संबद्ध कालेजों को फीस विवरण अपलोड करना अनिवार्य


चंडीगढ़: हरियाणा के सभी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों एवं उनसे संबद्घ कालेजों को अब अपनी वैबसाइट पर विभिन्न कोर्सों की सीटों तथा फीस आदि का विवरण अपलोड करना अनिवार्य होगा। हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने बताया कि कई बार विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों की शिकायत रहती है कि फलां विश्वविद्यालय या कालेज द्वारा सीटें खाली होने के बावजूद भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा तथा जिन विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जा रहा है उनसे निर्धारित फीस की बजाय अधिक फीस वसूल की जा रही है।

उन्होंने बताया कि इसी के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने सभी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों एवं उनसे संबद्घ कालेजों को निर्देश दिए हैं कि वे अपनी-अपनी वैबसाइट पर उनके लिए अलॉट की गई विभिन्न कोर्सों की सीटों,खाली सीटों, टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टॅाफ व उनके पद तथा शैक्षणिक योग्यता एवं कोर्सां की फीस का विवरण वैबसाइट पर अपलोड करना होगा। उन्होंने कहा कि उक्त जानकारी के अलावा विश्वविद्यालयों एवं उनसे संबद्घ कालेजों को वैबसाइट को अपडेट भी रखना होगा।

श्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार उच्चतर शिक्षा को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के तहत ‘स्टार्ट अप’ कार्यक्रम आरम्भ करने का एक प्रस्ताव केन्द्र सरकार को स्वीकृति हेतु भेजा गया है। जरूरत अनुसार विश्वविद्यालय तथा कालेज खोले जा रहे हैं। इसके अलावा पी.डी.एम. विश्वविद्यालय, बहादुरगढ़ में व स्टार एक्स विश्वविद्यालय, गुरुग्राम में स्थापित की जा रही है। वर्ष 2016-17 में 9 स्व:वित्त पोषित डिग्री कॉलेजों में 20 नये कोर्स शुरू किए गए हैं और 4 कालेजों में सीटें बढ़ाने तथा 29 अराजकीय सहायता प्राप्त कॉलेजों में 69 नये कोर्स और 5 कालेजों की सीटें बढ़ाई गई हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017-18 के लिए 63 नये कोर्स और 4 सीटें बढ़ाने की अनुमति प्रदान की गई।

(आहूजा)