जापान ने हरियाणा से मांगा सहयोग


चंडीगढ़ : जापान ने विनिर्माण क्षेत्र में युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए प्रदेश में जापान-भारत विनिर्माण संस्थान की स्थापना हेतु हरियाणा का सहयोग मांगा है। यह आग्रह भारत में जापान के राजदूत केंजी हीरामात्सू ने एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ हरियाणा के सीएम मनोहर लाल से मुलाकात के दौरान किया। उन्होंने कहा कि प्रमुख जापानी इलेक्ट्रॉनिक्स कम्पनी पैनासॉनिक शीघ्र ही झज्जर में अपनी रेफ्रिजरेटर फैक्टरी स्थापित करेगी। सीएम ने प्रदेश में जापानी कम्पनियों को हरसंभव सहयोग और समर्थन का आश्वासन दिलाते हुए कहा कि इन कम्पनियों को अपने निगमित सामाजिक दायित्व के माध्यम से विकास गतिविधियों में अधिक से अधिक योगदान करना चाहिए। प्रदेश में जापानी कम्पनियों के निवेश से जुड़े सभी मुद्दों को हल करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कार्य समूह का गठन किया गया है।

उन्होंने कहा कि गुरुग्राम में 200-200 किलोवाट के 6 नए पावर सब-स्टेशन स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा एक बिजली सरप्लस राज्य है और संप्रेषण प्रणाली को और अधिक मजबूत बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने हीरामात्सू को जापानी कम्पनियों के हित में कैमिकल वेस्ट ऑपरेटर को अनुमति देने पर विनियमों में छूट देने से संबंधित मुद्दे पर भी सक्रियता से विचार करने का आश्वासन दिलाया। हीरामात्सू ने प्रदेश में रहने वाले जापानियों को सुरक्षित माहौल उपलब्ध करवाने के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया और उनसे लोगों की सुविधा के लिए एक जापानी भाषा सैल स्थापित करने का आग्रह किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से जापानी विद्यार्थियों के लिए विशेष तौर पर गुरुग्राम में एक या दो स्कूल शुरू करने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इस समय प्रदेश में लगभ 341 जापानी कम्पनियों की इकाइयाँ संचालित हैं और यहां लगभग 2500 जापानी रह रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि पिछले अढ़ाई वर्षों के दौरान हरियाणा में जापानी कम्पनियों के निवेश में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। आंकड़ों से पता चलता है कि वर्ष 2016 में जो कम्पनियाँ भारत में आई उनमें से अधिकतर ने हरियाणा में अपनी इकाइयाँ स्थापित की जो कि हरियाणा के प्रति जापान के बढ़ते भरोसे का प्रमाण है।