मुख्यमंत्री परिवार का दर्द क्या जानें


abhay

सिरसा: हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला अपने बेटे विकास की करतूतों को घटना के पहले दिन से ही संरक्षित किया है, ऐसे में न केवल आरोपी विकास और उसके दोस्तों बल्कि स्वयं सुभाष बराला के खिलाफ भी षड्यंत्र रचने की धारा 120 बी और आरोपी को संरक्षण देने के मामले में धारा 212 और 216 के तहत केस दर्ज करना चाहिए। वे बुधवार को डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर मीडिया से रूबरू हो रहे थे। अभय चौटाला ने पुरजोर शब्दों में कहा कि इस गंभीर मसले पर मुख्यमंत्री भी सुभाष बराला को बचाते नजर आ रहे हैं क्योंकि उनका स्वयं का परिवार तो नहीं है, ऐसे में बेटी के साथ हुए गंभीर मामले की पीड़ा को वे कैसे महसूस करेंगे? इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा के छोटे बड़े नेता सभी मिलकर पुलिस प्रशासन पर दबाव बनाए हुए हैं कि वे किसी न किसी प्रकार उन धाराओं को मामले से अलग रखें जिसमें विकास बराला और उसके साथी गैर जमानती धाराओं के तहत गिरफ्तार होते हैं।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि वे इस गंभीर मसले पर हरियाणा के राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपकर आरोपी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग कर चुके हैं। यदि इस पर भी कोई संज्ञान नहीं लिया गया तो उनकी पार्टी की आगामी 15 अगस्त को दिल्ली में राज्य कार्यकारिणी की बैठक है जिसमें फैसला लेकर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर पीडि़त बेटी वर्णिका कुंडू को इंसाफ दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि पुलिस प्रशासन ने सुभाष बराला के पोते को ठीक घटना के तुरंत बाद गिरफ्तार किया होता तो आज विकास बराला जैसे युवाओं की हिम्मत भी नहीं होती कि वह किसी बहन बेटी का पीछा करके ऐसी आपराधिक कोशिश करे। इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस के दस सालों के शासन के दौरान अपराध काफी बढ़ा था मगर हैरानीजनक और चिंतानजक यह है कि भाजपा के शासन में बलात्कार जैसे घिनौने अपराध में हरियाणा नंबर वन है। उन्होंने कहा कि ये मामला पूरी तरह से नैतिकता पर आधारित है और इसमें केवल एक राजनीतिक दल नहीं बल्कि सभी राजनीतिक दलों को एक साथ सामने आकर पीडि़ता को न्याय दिलाना चाहिए।