स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ परफोर्मिंग एंड विजुअल आर्टस में छात्राओं की सुरक्षा को लेकर डीजी को लिखा पत्र


pratibha-suman

रोहतक : स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ परफोर्मिंग एंड विजुअल आर्टस में छात्राओं की सुरक्षा को लेकर डीजीपी को रिपोर्ट भेजी है कि सरेआम छात्राओं से छेडछाड हो रही है और पूरी तरह से कैम्पस में दहशत का माहौल है। डीजीपी को लिखे पत्र में साफ कहा है कि परिसर का सुरक्षित माहौल नहीं है। यहां तक कि बाहरी युवक परिसर में आकर छात्राओं को गालियां तक देते है, इसलिए छात्राओं की सुरक्षा के लिए पुलिस चौकी खोली जाए, ताकि छात्राएं सुरक्षित महसुस कर सके। पिछले दिनों आयोग की टीम ने यूनिवर्सिटी का दौरा कर छात्राओं से रूबरू हुई थी और इस दौरान रो तक पड़ी थी। इसके बाद आयोग ने इस संबंध में कडा संज्ञान लेने की बात कही थी।

साथ ही यमुनानगर के जगाधरी में हुए महिला की रेप के बाद हत्या के मामले में आयोग की टीम ने पीडित परिजनों से भी मुलाकात की और एसपी से इस संबंध में रिपोर्ट तलब की। आयोग की टीम का कहना है कि अभी रेप की पुष्टि नहीं हुई है और तथ्य जांच के लिए मधुबन भेजे गए है। महिला आयोग की अध्यक्ष प्रतिभा सुमन ने पुलिस महानिदेशक को स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ परफोर्मिंग एंड विजुअल आर्टस में पुलिस चौकी स्थापित करने को पत्र लिखा है। आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यूनिवर्सिटी में छात्राएं पूरी तरह से असुरक्षित है और कोई भी बडी वारदात हो सकती है, जबकि पुलिस चौकी नहीं खुल पाती है पीसीआर का इंतजाम किया जाए।

रिपोर्ट में आयोग ने यूनिवर्सिटी ने अपने दौरे का भी जिक्र किया है। प्रतिभा सुमन ने बताया कि 16 जनवरी को आयोग की टीम विश्वविद्यालय गई थी और वहां पर छात्राओं से रूबरू हुई थी। छात्राएं पूरी तरह से डरी व सहमी हुई थी और उन्होंने बताया कि हर समय बाहरी तत्व कॉलेज परिसर में रहते है और उनके साथ अश्लील हरकत तक करते है। पूरे परिसर में सीसीटीवी कैमरे भी नहीं है और आरोपी उन्हें धमकी देकर जाते है, इस बारे में कई बार अधिकारियों को अवगत कराया गया, लेकिन कोई कारवाई नहीं हुई।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।

– कथूरिया