भारत को विश्व का सिरमौर बनाने चाहते हैं मोदी : सुभाष बराला


Subhash Barara

रेवाड़ी : स्वामी विवेकानंद की 155वीं जयंती एवं राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर (एक कदम मानवता की ओर) नामक सामाजिक संस्था की ओर से भाजपा जिला महामंत्री अमित यादव के कार्यालय पर शुक्रवार को रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने बतौर मुख्य अतिथि रक्तदाताओं का उत्साहवर्धन व सम्मानित करते हुए कहा कि रक्तदान सबसे बडा दान है जो व्यक्ति रक्तदान जैसा बडा कार्य करता है उससे बडी बात और कोई नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि रक्त से हम दूसरे का जीवन बचाने का कार्य करते है। इसलिए युवाओं को चाहिए कि वे अपने जीवन में ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करने का संकल्प लें।

उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने पूरी दुनिया एक परिवार का जो संदेश दिया उसी तरह युवा भी उनकी जयंती पर देश के लिए कुछ अच्छा करने का संकल्प लें। स्वामी विवेकानंद ने भारत की संस्कृति की छाप शिकागो के सर्वधर्म सम्मेलन के समय छोडने का कार्य किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच है कि भारत दुनिया का सिरमौर बने और भारत की धाक विश्व में जमें। प्रधानमंत्री ने यूएनओ में प्रस्ताव रखा था कि आंतकवादी संगठन दुनिया को तोडने का कार्य करते है जबकि भारतीय संस्कृति योग दुनिया को जोडने का कार्य करती है इसलिए 21 जून विश्व योग दिवस घोषित किया गया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी व जीएसटी जैसे महत्वपूर्ण निर्णय लेकर देश के लिए बहुत बडा कार्य किया है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी व जीएसटी के बाद देश में हुए चुनावों में भाजपा को जीत मिली है इससे यह साफ होता है कि देश की जनता ने भाजपा के इस निर्णय को स्वीकारा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी व जीएसटी देश के आर्थिक सुधार में बहुत बडा कदम सिद्ध हुआ है। प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल के नेतृत्व में प्रदेश विकास की राह पर अग्रसर है तथा पूरे प्रदेश के सभी हल्कों में बिना भेदभाव के विकास कार्य सबका साथ-सबका विकास के सिद्धांत पर हो रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में सक्षम योजना के तहत युवाओं को रोजगार मिल रहा है। उन्होंने कहा कि हम सभी को स्वामी विवेकानंद के जीवन से प्रेरणा लेते हुए देशहित में अच्छा कार्य करने का संकल्प लेना चाहिए और आज उनकी जयंती पर इस समिति के सहयोग से युवाओं ने 155 यूनिट रक्तदान करके सराहनीय कार्य किया है, जिसके लिए वे बधाई के पात्र है।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।