GST से किसानों को सबसे ज्यादा नुकसान


पलवल: नेता प्रतिपक्ष व इनेलो के वरिष्ठ नेता अभय चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों को कमजोर करने की योजनाएं बनाकर उन्हें बर्बाद करने का षडयंत्र रच रही है। इसीलिए एसवाईएल के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला हरियाणा के पक्ष में आने बावजूद भी आज तक एसवाईएल नहर की खोदाई का काम शुरू नहीं किया गया। इसलिए इनेलो कार्यकर्ता 10 जुलाई को हरियाणा के साथ लगती पंजाब की सभी सीमाओं पर धरना देकर पंजाब के वाहनों को हरियाणा में आने से रोकेंगे। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि एसवाईएल की लड़ाई हरियाणा से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति की लड़ाई है इसलिए अधिक से अधिक संख्या में 10 जुलाई को पंजाब के वाहनों को रोकने के लिए पार्टी द्वारा अंबाला द्वारा निर्धारित स्थान पर पहुंचें। श्री चौटाला बुधवार को पलवल में आयोजित जिला स्तरीय इनेलो कार्यकर्ता सम्मेलन को बतौर मुख्यअतिथि संबोधित कर रहे थे।

सम्मेलन की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष अजीत बॉबी ने की, जबकि संचालन जिला प्रवक्ता विरेंद्र शर्मा द्वारा किया गया। इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष गोपीचंद गहलोत, इनैलो विधायक केहर सिंह रावत, पूर्व मंत्री जगदीश नायर, पूर्व विधायक सुभाष चौधरी, पूर्व जिलाध्यक्ष एवं प्रदेश सचिव महावीर चौहान, महेन्द्र चौहान, युवा इनेलो के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पलवल जिले के प्रभारी जीतू दीघोट, हल्का अध्यक्ष महेन्द्र भडाना, शुगर मिल के पूर्व डायरेक्टर सुखराम डागर, वरिष्ठ नेता गयालाल चांदहट, सुरेंद्र सौरोत आदि अनेकों वरिष्ठ नेता मौजूद थे। श्री चौटाला ने भाजपा और कांग्रेस पर कड़े प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि एक ओर दोनों सरकारों के कार्यकाल में किसानों को नलकूप लगाने के लिए बिजली के कनेक्शन देने बंद किए गए हैं और किसानों को केवल छह से आठ घंटे तक कृषि कार्य के लिए बिजली दी जाती है, जिससे किसान बर्बादी के कगार पर है।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस व भाजपा दोनों ने ही एसवाईएल का पानी हरियाणा में लाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा कि एसवाइएल हरियाणा के किसानों के लिए जीवनरेखा है। केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू करवाने में विफल रही है। हरियाणा के पक्ष में फैसला आने के बावजूद भी आज तक केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार पंजाब में किसी एजेंसी से एसवाईएल की खुदाई करवाकर हरियाणा में पानी लाने का कोई प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा कि इनेलो ने एसवाईएल के मुद्दे पर सभी 90 हलकों में धरना व प्रदर्शन किए और अब 10 जुलाई को इनेलो के कार्यकर्ता प्रदेश की जनता को साथ लेकर पंजाब की सीमाओं पर धरना देकर पंजाब का कोई भी वाहन हरियाणा में नहीं घुसने देंगे।

– देशपाल, भगत