दूसरे दिन भी मौके पर नहीं पहुंचा कोई बड़ा प्रशासनिक अधिकारी


गन्नौर: रविवार को उतर प्रदेश के प्रवासी मजदूर अंसार की यमुना में डूबने से मौत हो गई थी। मौत के करीब 34 घंटे के बाद भी उसकी तलाश के लिए कोई भी प्रशासनिक अधिकारी मौके नही पहुंचा है। जिसके चलते मृतक के परिजनों में प्रशासन के प्रति रोष है। परिजनों का कहना है कि उनके मृतक लड़के की तलाश में महज एक पटवारी, कार्यकारी पंचायत अफसर व पुलिस की तरफ से महज एक ईएएसआई ही पहुंचे है। मृतक युवक अंसार पेड़ की कटाई करने का काम करता था और वो बेगा घाट के पास पेड़ की कटाई करने आया था रविवार को वो खाना खाने से पहले यमुना में नहने के लिए गया था जिसके चलते उसकी डूबने से मौत हो गई।

मृतक के रिस्तेदारों ने बताया कि उनको उपमंडल या जिला प्रशासन की तरफ से कोई मदद नही मिल रही है सिर्फ तीन आदमी ही उनका सहयोग कर रहें है उनमें राजस्व विभाग की तरफ से एक पटवारी दिलावर, पंचायत विभाग की तरफ से जयभगवान , ड्राइवर रामबलेश व पुलिस की तरफ से एक इएसआई भगत सिंह है। युवक के शव की तलाश के लिए बाढ़ सहायता विभाग के लोग ही यमुना में फंस गए थे ग्रामीणों की मदद से उनको बाहर निकाला गया।