जिले में एक हजार लड़कों के अनुपात में लड़कियों की संख्या 936


करनाल: सिविल सर्जन डा. योगेश शर्मा ने शुक्रवार को माल रोड़ स्थित अपने कार्यालय में प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम के तहत गठित जिला सलाहकार समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि जिले में मई 2017 के अनुसार लिंगानुपात एक हजार लड़कों के अनुपात में लड़कियों की संख्या 936 तक है और वह दिन दूर नहीं जब यह आंकड़ा एक हजार होगा। सीएमओ ने कहा कि अल्ट्रासाउंड से लिंग की जांच करवाकर भू्रण हत्या करने वाले की जानकारी देने वाले को एक लाख रूपये ईनाम के रूप में दिए जाएंगे तथा सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा। सभी के सहयोग से जिले में लिंगानुपात में सुधार हो रहा है और अधिक मेहनत करने की जरूरत है।

बैठक में सीएमओ ने बताया कि जिले में आम जनता की सुविधा के लिए 11 सुझाव पेटियां लगाई गई हैं, इनमे दो लघु सचिवालय में, एक कल्पना चावला मैडिकल कॉलेज में, एक सिविल सर्जन कार्यालय में, छह सभी सीएचसी में और दो एसडीएस में लगाई गई हैं। यदि किसी भी व्यक्ति की कोई समस्या या सुझाव है तो सम्बन्धित सुझाव पेटियों में वह अपना सुझाव व शिकायत पत्र डाल सकता है। इस अवसर पर कमेटी के सदस्यों में डिप्टी डीए कुलदीप सिंह, डा. संजीव ग्रोवर, डा. मुनीष पुरूथी, डा. संगीता अबरोल, एआईपीआरओ करनाल बलराम शर्मा, सीडीपीओ राजबाला, एनजीओ से उषा शर्मा, हिन्दराज सहित कमेटी के सभी सदस्य उपस्थित थे।

– बागी, आशुतोष गौतम