राम मंदिर की वकालत करने पर दी जान से मारने की धमकी


पिनगवां: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की हरियाणा के रोहतक में बैठक के दौरान हरियाणा प्रदेश हज कमेटी के चेयरमैन औरंगजेब द्वारा धारा 370 और अयोध्या में मुसलमानों को जमीन छोड़ राम मन्दिर बनाने के बयान पर मेवात के मुसलमानों द्वारा सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना की जा रही है। इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर हरियाणा हज कमेटी के चेयरमैन औरंगजेब को जहां लोगों द्वारा गन्दी-गन्दी गालियां दी जा रही है और उसे भाजपा व आरएसएस का दलाल बताया जा रहा है वहीं सोशल मीडिया पर उसे जान से मारने की भी धमकियां दी जा रही हैं। गौरतलब है कि औरंगजेब ने अमित शाह की बैठक में अमित शाह से कहा था कि जिस स्थान पर खून-खराबा और विवाद पैदा हो, वहां इस्लाम मस्जिद बनाने की ईजाजत नहीं देता।

उन्होंने मुसलमानों को अयोध्या में सुलह के साथ जमीन छोड़ भव्य राम मंदिर बनाने में सहयोग की बात की थी। इतना ही उन्होंने बाबर के बारे में कहा था कि बाबर विदेशी आक्रमणकारी था ,जिन्होंने राम मंदिर के साथ तमाम हिन्दु आस्था के केन्द्रों को ध्वस्त किया था। इसलिए बाबर को कभी माफ नहीं किया जा सकता। उन्होंने कश्मीर पर बोलते हुए कहा कि कुछ कश्मीरी आतंकवादियों से मिले हुए हैं जिसके कारण कश्मीर सुलग रहा है। इसका एकमात्र समाधान धारा 370 हटाना है अगर धारा 370 हटेगी तभी वहां पर तिरंगे का सम्मान होगा। जैसे ही यह खबर न्यूज चेनल और अखबारों में छपी तो मेवात के मुसलमानों का सबर टूट गया और सोशल मीडिया पर एक के बाद एक पोस्ट न्यूज कटिंग के साथ डलने लगी।

जिस पर लोगों ने अपने कमेंट के माध्यम से न केवल उसे आरएसएस का दलाल और कौम का गद्दार बताया, बल्कि उसे मेवात में आने पर जान से मारने व उसका सामाजिक बहिष्कार करने की भी बात सोशल मीडिया पर की जा रही है। अब देखना ये है कि औरंगजेब ने यह बयान किस उद्देश्य से दिया है, जिसका पार्टी उसे मंदिर बनवाने वाले बयान का ईनाम देगी या फिर अपनी कौम का गद्दार जैसे शब्द और सोशल मीडिया पर उसे यूंही गालियां सुनने को मिलेगी। अब सभी की नजर अमित शाह के हरियाणा दौरे के बाद औरंगजेब के मेवात आगमन पर लगी हुई हैं।

– आस मोहम्मद