पानीपत: पानीपत में जी.टी.रोड स्थित गुरुद्वारा पहली पातशाही में अचानक तीसरी मंजिल पर बने गुमट के ध्वस्त हो जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 6 घायल हो गए। वहीं समाचार लिखे जाने तक राहत कार्य जारी था तथा मौके पर भारी संख्या में शहर वासी व पुलिस के साथ अधिकारीगण मौजूद थे। सूचना मिलने पर प्रदेश के परिवहन मंत्री, सांसद मुख्य संसदीय सचिव व विधायक आदि भी पहुंचे। मिली जानकारी के अनुसार आज करीब ३ बजे जीटी रोड स्थित गुरुद्वारा पहली पातशाही का भवन अचानक गिर गया। गुरुद्वारा के भवन में पिछले २ माह से नवीनीकरण का काम चल रहा था। वहीं गुरूद्वारा के भवन गिरने के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

हालांकि कुछ लोग इस भवन  के गिरने का कारण भुक्कपं का झटका बता रहे हैं तो कुछ लोग गुरुद्वारा में नवीनीकरण का कारण मान रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गुरुद्वारा का भवन जोरदार धमाके के साथ गिरा। भवन का कुछ हिस्सा भवन के अन्दर गिरा तो कुछ बाहर गुरुद्वारा  बाजार में मलबा गिरा। उस समय बाजार में धूप अधिक होने के कारण भीड़ नहीं थी अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। देखते ही देखते दुकानदारों में भगदड़ मच गई। बताते हैं कि जब हादसा हुआ उस समय गुरूद्वारा में तीन सेवादार हर सिमरन सिंह, दर्शन सिंह, देविन्द्र सिंह तथा चार-पांच यात्री व चार-पांच मजदूर काम कर रहे थे। जिला प्रशासन व शहर के कई संगठनों ने फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए राहत कार्य शुरू कर दिये थे।

जिला प्रशासन की ओर से मलबा हटाने के लिए जेसीबी लगाई गई व घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए दर्जनों एम्बुलैंस घटनास्थल पर तैनात रही। जिला पुलिस ने भारी मशक्त के बाद हजारों लोगों की भीड़ को आगे बढऩे से रोका। इस घटना की सूचना मिलने के बाद हरियाणा के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार, सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा, मुख्य संसदीय सचिव सरदार बख्शीश सिंह, विधायक शहरी रोहिता रेवड़ी, पूर्व मंत्री ओम प्रकाश जैन, मेयर सुरेश वर्मा, पूर्व मेयर भूपेन्द्र सिंह सहित अनेक नेता मौके पर पहुंच गए तथा इस घटना पर अफसोस जाहिर किया। सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा ने मौके का जायजा लेते हुए प्रशसान से सारी  जानकारी ली। सांसद ने कहा की वाहेगुरु की कृपा से सब ठीक होगा और वाहगुरु सबका भला करेंगे।

पुलिस ने आस-पास के बाजार की दुकानों को बंद करवा दिया था। इस हादसे में समाचार लिखे जाने तक  राहत एवं बचाव कार्य जारी था। वहीं हादसे में 24 वर्षीय श्रमिक धीरज पुत्र राजेश निवासी खेलिया जिला सीतापुर यूपी की मौत हो गई जबकि एक 60 वर्षीय महिला माया देवी पत्नी मदन लाल निवासी वधावाराम कालोनी, पानीपत, 40 वर्षीय सरताज पुत्र मुलतान उत्तम नगर, दिगी, 36 वर्षीय जरनैल सिंह पुत्र मोहन सिंह निवासी इंसार बाजार पानीपत, 24 वर्षीय दीपक पुत्र ब्रह्म दत्त निवासी किला पानीपत, 5 वर्षीय लोकेश, 5 वर्षीय मोनी, गुरूद्वारे के सेवादार हरसिमरन सिंह घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। जहां से कुछ को रोहतक, कुछ को शहर के पार्क अस्पताल व एक को करनाल के कल्पना चावला अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल कराया गया है।

पानीपत  उपयुक्त चंदशेखर खरे  कहा की  बचाव कार्य सारी रात चलेगा और ७ घायल  हुए हैं।  जिनमे से तीन  की हालत स्थिर हैं तीन  को रेफर कर दिया गया हैं। उन्होंने कहा की  हरियाण सरकार को सूचित कर दिया गया हैं दिगी से स्पेशल टीम बचाव कार्य के लिए जल्द ही पहुंच जाएगी  खबर लिखने तक  पुलिस द्वारा रेस्क्यू जारी हैं। 12 एम्बुलेंस 3 दमकल गाडी व 3 क्रेन बचाव कार्य मे जुटी हुई हैं। कुछ लोगो का यह भी कहना हैं की  जब इमारत गिरी कुछ लोग लंगर खा रहे थे  लगभग 15 से 16 आदमियों ने दबे होने का आशंका जताई जा रही हैं।

(राकेश कुमार)