पर्यावरण संरक्षण समिति ने किया पौधारोपण


करनाल: पर्यावरण सरंक्षण समिति एवं लाइंस क्लब के संयुक्त तत्त्वाधान में श्रीराम ग्लोबल इण्टरनैशनल स्कूल, कुंजपुरा रोड़ में पौधारोपण समारोह का आयोजन किया गया। स्कूल के निर्देशक सुरेन्द्र कक्कड़ व प्रिसींपल श्रीमती सुषमा शर्मा द्वारा फलदार पौधा लगाकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। समिति अध्यक्ष एस.डी. अरोड़ा एवं पैट्रन कंवल भसीन द्वारा स्कूल के प्रांगण में स्टाफ एवं बच्चों से पौधारोपण करवाया गया। कार्यक्रम में विशेष कर लाइंस कल्ब करनाल के प्रैजिडैंट जे.एल. तुली, प्रौजेक्ट चेयरमैन अनिल गांधी, चार्टड प्रैजीडैंट महेन्द्र बत्तरा, सचिव रमेश ग्रोवर एवं कैशियर रविन्द्र तनेजा ने पौधारोपण कार्यक्रम में बढ़-चढ़ कर भाग लिया और कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष योगदान दिया।

पर्यावरण समिति सदस्यों ने स्कूल के प्रांगण में विभिन्न प्रजातियों के जैसे पीपल नीम, आवंला, गुलमोहर, जामुन, चकरेसिया, सफेदा, मुलताज, गुल्लर, तुण एवं पापड़ी आदि के लगभग 100 से अधिक पौधे लगाये। स्कूल की प्रिंसीपल, स्टाफ एवं बच्चों ने पौधारोपण में बहुत उत्साह दिखाया और अपने हाथों से पौधारोपण किया।समिति अध्यक्ष एस.डी. अरोड़ा ने बताया कि आज विश्व में ग्लोबल वार्मिंग के कारण मौसम में बहुत उतार-चढाव हो रहे हैं और बदलाव आ गया है एवं बेमौसमी आंधियां व तुफान आने लगे हैं जिससे जन-मानस को भारी हानि हो रही हैं। भारत की परम्परा रही है कि पीपल व तुलसी की पुजा होती है। बिल्व पत्र शिवलिंग पर चढ़ाया जाता है क्योंकि यह शिव को बहुत प्रिय है। पेड़-पौधों में एलोवेरा एवं गिलोय आयुवैदिक औषधीय पौधे हैं इनसे डेंगू बुखार का इलाज बहुत सक्षम होता है। विशेषतया गिलोय की बेल का काढ़ा पीने से डेंगू बुखार खत्म हो सकता है और यह प्लेटलैट्स की कमी को पूरा कर सकता है।

उन्होंने कहा कि एक पेड़ केवल पचास वर्ष की आयु में इतनी ऑक्सीजन देता है जिससे हजारों लोगों को जीवन दान मिलता है। इसीलिए अर्थवेद के अनुसार प्रकृति में पेड़-पौधों को सुरक्षित करने वाला पुण्य का भागी होता है और मोक्ष को प्राप्त करता है। पर्यावरण समिति द्वारा स्कूल मैनेजमैंट एवं प्रिंसीपल का पौधारोपण कार्यक्रम करवाने के लिए विशेष धन्यवाद किया गया एवं राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का सम्मापन हुआ। इस अवसर पर मुख्य रूप से समिति पैट्रन कंवल भसीन, ओ.पी. सचदेवा, रतन काम्बोज, अश्वनी गुप्ता, सुप्रीमों तृप्ता शर्मा, शशी आर्या, सुनीता रानी, कृष्णा चौहान, डायैरेक्टर संदीप कक्कड़, प्रिंसीपल सुषमा शर्मा, ओ.पी. सरदाना, मुनीष कामरा, राजीव तनेजा, राजीव मैहता, इन्द्रजीत गाबा, एच.के. चावला, स्कूल स्टाफ एवं बच्चे उपस्थित रहे।

– बागी, आशुतोष गौतम