बिजली कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन


गुरुग्राम: ऑल हरियाणा पावर कॅारपोरेशन वर्कर यूनियन के प्रदेशव्यापी आंदोलन के तहत ठेका कर्मचारियों को पक्का करवाने व समान काम के लिए समान वेतन देने आदि मांगो को लेकर बिजली कर्मचारियों ने बुधवार को महरौली रोड स्थित सर्कल कार्यालय पर सामूहिक धरना दिया। कर्मचारियों ने सरकार व बिजली निगम प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जमकर प्रदर्शन किया। सर्कल सचिव ब्रह्म्म सिंह की अध्यक्षता में आयोजित इस प्रदर्शन में गुडग़ांव व सोहना से बड़ी संख्या मे ठेका व नियमित कर्मचारियों ने भाग लिया। अतिरिक्त सर्कल सचिव सुदामपाल द्वारा संचालित इस प्रदर्शन के बाद बिजली विभाग के प्रधान सचिव के नाम ज्ञापन निगम के महाप्रबंधकों को सौंपे गए। प्रदर्शन में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव व एएचपीसी वर्कर यूनियन के वरिष्ठ उप प्रधान सुभाष लाम्बा, यूनियन के उपाध्यक्ष सतपाल नरवत, सुरेन्द्र मलिक, सीसी सदस्य रामबीर शर्मा, अशोक लाम्बा आदि विशेष तौर पर उपस्थित थे।

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा ने कहा कि सरकार आऊटसोर्सिंग नीति -2 की घौर उल्घंना कर रही हैं और स्वीकृत रिक्त पदों के विरूध लगे कर्मचारियों को भी ठेकेदार के मार्फत लगाया हुआ हैं। उन्होंने ठेकेदारों के मार्फत लगे कर्मचारियों को सीधे निगम के मार्फत लगाने, मेडिकल व आकस्मिक सहित सभी प्रकार के अवकाश देने, ईएसआई कार्ड व पहचान पत्र बनवाने, एक्सीडेंट मे मृत्यु होने पर आश्रितों को पक्की नौकरी देने, पुलिस की तर्ज पर नियमित व अनियमित कर्मियों को पांच हज़ार रुपये जौखिम भत्ता देने, डीसी रेट या निगम रेट जो ज्यादा हो, लागू करने का पत्र जून 2014 से लागू करते हुए एरियर देने आदि मांगो को प्रमुखता से उठाया।

200 ठेका कर्मियों की हो चुकी है मौत: सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा की बिजली निगमों में 12 हजार से ज्यादा कर्मचारी पिछले 7-8 वर्षो से अत्यंत जौखिमपूर्ण काम कर रहे हैं। काम करते हुए इन ठेका कर्मचारियों में से 200 से ज्यादा मौत के मुंह मे जा चुके हैं, लेकिन सरकार न तो इन ठेका कर्मचारियों को पक्का करने की कोई स्थाई नीति बना रही हैं और न ही माननीय सुप्रीम कोर्ट के समान काम के लिए समान वेतन देने के निर्णय को लागू कर रही हैं।

– सतबीर, अरोड़ा