छापेमारी: 19 स्थानों पर पकड़ी बिजली चोरी, एक करोड़ का लगाया जुर्माना


गुरुग्राम: साइबर सिटी में मुख्यमंत्री उडऩदस्ते की टीम व सीआईडी ने रात दो बजे तक छापामारी की, जिसमें करोड़ों रुपये की बिजली चोरी के अलावा बड़े पैमाने पर 900 मीटर के दायरे में बन रहे अवैध निर्माणों का भी भंडाफोड़ हो गया। कैसे एक राजनेता इस सारे काम को अंजाम दि जा रहा था। इस राजनेता की प्रॉपर्टी डीलरी की दुकान का भी भंड़ाफोड़ हो गया है कि कैसे सफेद पोश नेता होकर बिजली की चोरी कराता था। सीआईडी और मुख्यमंत्री उडऩदस्ते की टीम ने इसकी परत दर परत खोल दी है कि अब देखना यह है कि सरकार अपने दामन को साफ रखने के लिए इस नेता पर शिकंजा कसेगी या फिर गोलमोल मामला रखेगी।

150 किलोवाट बिजली चोरी के मामले का भांडाफोड़ कर दिया, लेकिन बिजली चोरी कितने वर्षों से चल रही थी इस बात का बिजली विभाग के अधिकारियों को भी कुछ बताने के नाम पर सांप सूंघ गया है, क् डीएसपी सीआईडी हितेष यादव रात डेढ़ बजे तक छापामारी के दौरान तैनात रहे साथ ही मुख्यमंत्री के उडऩदस्ते के डीएसपी जितेंद्र गहलोट भी अपनी टीम के साथ छानबीन करने में जुटे रहे। अवैध इमारतों में हो रही बिजली चोरी सीआईडी और मुख्यमंत्री उडऩदस्ते ने पकड़ी है।

मारुति गेट नंबर दो के पास बनी दुकानों और इमारतों में लगभग 160 किलो वाट की बिजली चोरी हो रही थी। ये इमारते ंऔर दुकानें 900 मीटर दायरे के अंदर हैं और यहां पर अवैध रूप से बिजली चोरी की जा रही थी। टीम ने एक करोड़ से उपर बिजली चोरी के आरोपियों पर जुर्माना लगाया है। डीएसपी हितेष यादव ने बताया कि इस अभियान में बिजली विभाग के एसडीओ, जेई और पालम विहार पुलिस एसएचओ और पुलिस बल मौजूद था।

– सतबीर भारद्वाज