10 जुलाई को पंजाब से आने वाले वाहनों का रोकेंगे रास्ता


कैथल: इनेलो स्टेट प्रैस संयोजक प्रवीण आत्रेय ने कहा कि जल्द ही एस.वाई.एल. के निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो इनेलो 10 जुलाई से पंजाब से आने वाले सभी वाहनों को रोक देगी। आत्रेय ने यह बात इनैलो जिला मीडिया संयोजक हरदीप पाडला द्वारा आयोजित एक निजी प्रतिष्ठान पर पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। स्टेट प्रवक्ता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी नहर का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने देश का अन्न पैदा करने वाले किसान पर जी.एस.टी. लगाकर उनकी कमर तोडऩे का काम किया है। किसान तो पहले ही अपनी फसल के उचित दाम न मिलने के कारण सड़कों पर था तथा आत्महत्या कर रहा था लेकिन मोदी ने किसानों की कोई सुध नहीं ली और किसानों पर जी.एस.टी. लगाकर उनको बर्बाद करने का काम किया।

आत्रेय ने याद दिलाया कि वर्ष 1977 में देवीलाल ने ट्रैक्टरों को करों से मुक्त कर उनके भार को हलका करने का प्रयास किया था। इस प्रकार के कदमों के द्वारा ही कृषि को आकर्षक और लाभप्रद बनाया जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि इस प्रकार के खर्चों से ही किसानों के लागत मूल्य में वृद्धि होती है और जब सरकारें स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं निर्धारित करती तो उन पर इस प्रकार के करों से और अतिरिक्त बोझ पड़ता है। इस प्रकार के कर किसान विरोधी और उनकी प्रगति में रुकावट होते हैं जिनका कृषि व्यवस्था में कोई स्थान नहीं होना चाहिए।

स्टेट प्रवक्ता ने एक प्रश्र का उत्तर देते हुए कहा कि इनैलो ने राष्ट्रपति रामनाथ कोङ्क्षवद का समर्थन इसलिए किया कि राष्ट्रपति पद संवैधानिक पद होता है तथा किसी भी पार्टी व धर्म से इस पद को नहीं जोड़ा जा सकता। रामनाथ कोङ्क्षवद ने इनैलो से संपर्क किया और अपने पक्ष वोट मांगते हुए चौ. देवीलाल की याद को ताजा करते हुए कहा कि देवीलाल ने हमेशा कमेरे व गरीब व्यक्ति के उत्थान के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि जनहित के मुद्दे पर अगर भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार भटकती मिली तो इनैलो समय-समय पर सड़कों पर उतरकर हरियाणा प्रदेश के लोगों की आवाज बुलंद करने का काम करेगी और भाजपा को जनहित फैसले करने के लिए मजबूर कर देगी।

(मनोज वर्मा)