GST की शंकाओं को दूर करने के लिए आयोजित होंगी संगोष्ठी


चंडीगढ़: हरियाणा आबकारी एवं कराधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने कहा कि जीएसटी के संबंध में लोगों की शकांओं और भ्रांतियों को दूर करने व इसकी विस्तृत जानकारी देने के लिए आगामी एक सप्ताह के भीतर प्रदेश के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर एक-एक संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। इस संगोष्ठी में मैन्यूफैक्चरिंग एसोसिएशन, ट्रेडर्स, चार्टर्ड अकाऊंटस के जो चैप्टर होंगे, उनके आईसीआई, सूचीबद्ध 34 सुविधा प्रदाता और क्षेत्र के चुने हुए प्रतिनिधियों को बुलाया जाएगा।

श्री संजीव कौशल ने जीएसटी पर आयोजित संगोष्ठी के उपरांत पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस बैठक में जीएसटी पर विस्तृत चर्चा होगी ताकि किसी के मन में कोई संदेह न रहे। उन्होंने कहा कि आबकारी एवं कराधान विभाग द्वारा इस तरह की संगोष्ठियों का आयोजन किया जा रहा है, ताकि लोगों को जीएसटी की जानकारी प्राप्त हो और उसका लाभ उठा सकें। इसके अतिरिक्त इन संगोष्ठियों के माध्यम से समाज को, देश को और हमारे प्रदेश को, मैन्यूफैक्र्चर व टैडर्स को जीएसटी के संबंध में व्यापक जानकारी मिल सके। उन्होंने बताया कि तीन दिन पहले भी ऐसी ही एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया था, जिसमें मंत्रीमंडल के सभी मंत्रिगण, मुख्यमंत्री, विभागों के प्रशासनिक सचिवों ने भाग लिया था।

कृषि, टै्रक्टर और फर्टिलाइजर के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस संबंध में कुछ तथ्यों की कमी है। उन्होंने बताया कि टै्रक्टर पाट्र्स जो केवल और केवल टै्रक्टर में इस्तेमाल होंगे, उन पर 18 प्रतिशत का टैक्स, और टै्रक्टर के कुछ ऐसे पाट्र्स भी होते हैं जो दूसरी मशीनरी में भी इस्तेमाल होते हैं उन पर यह दर 28 प्रतिशत जीएसटी काउंसिल ने निर्धारित किया है।

(आहूजा)