एसयूसीआई कम्युनिस्ट ने 50 गांवों में निकाला बाइक मार्च


रेवाड़ी: एसयूसीआई कम्युनिस्ट ने ज्वलंत मुद्दो के खिलाफ जिला के पचास से अधिक गांवों व कस्बों में मोटरसाइकिल मार्च निकाला गया। जिसमें सैंकड़ो नागरिको ने हिस्सा लिया। पार्टी की केंद्रीय कमेटी के सदस्य एवं प्रांतीय सचिव कामरेड सत्यवान ने मोटरसाइकिल मार्च का नेतृत्व कर रहे जिला सचिव कामरेड राजेंद्र के हाथों में क्रांतिकारी झण्डा देकर रवाना किया। उक्त मार्च पूंजीवादी व्यवस्था के कारण पनप रही महंगाई, बेरोजगारी, कर्ज बोझ, किसानों की आत्महत्याएं, इलाज व शिक्षा का अभाव, महिलाओं पर बढ़ते जुल्म, शराब नशाखोरी, सांस्कृतिक पतन, जन अधिकारों का हनन, निजीकरण, बढ़ता शोषण, भेदभाव भ्रष्टाचार के खिलाफ जोरदार जनआंदोलन गठित करने के आह्वान एवं 29 जुलाई को दुनियां की पहली समाजवादी की 100वीं वर्षगांठ पर रेवाड़ी में आयोजित होने वाले समारोह में शामिल होने की अपील करने के लिए निकाला गया।

यह मोटरसाइकिल मार्च नेहरू पार्क से आरंभ हुआ एवं रामगढ़, भगवानपुर, बुढ़ाना चौक, मीरपुर, ततारपुर, सुनारियां, तुर्कियावास, जाट-जाटी, चीहड़, भुरथला, नांगल पठानी, भोतवास, बाजपुरा, बेरली कला, बेरली खुर्द, चौकी नं 2, नांगल मूंदी, बुड़ौली, सीहा, डहीना, जैनाबाद, निमोठ में समापन हुआ। इस अवसर पर का. सत्यवान ने संबोधित करते हुए कहा कि देश के नवजागरण काल के मनीषियों, समाज सुधारको, आजादी आंदोलन के समझौताहीन संघर्ष की धारा के प्रतिनिधियों के शोषणहीन समाज के निर्माण के अधूरे स्वपन को पूरा करने के लिए क्रांतिकारी पार्टी एसयूसीआईसी की स्थापना की गई।

आज पूंजीवाद विरोधी समाजसेवी क्रांति ही एकमात्र विकल्प है। मार्च के दौरान कामरेड रजोंद्र सिंह ने जनता से आह्वान किया कि ज्वलन्त समस्याओं के खिलाफ हर स्तर पर जनसंघर्ष कमेटियों का गठन कर आंदोलन तेज करें एवं 29 जुलाई को रेवाड़ी के राव तुलाराम पार्क में आयोजित समारोह में हिस्सा ले। इस मार्च में मुख्य रूप से किसान नेता का. रामकुमार, अमर सिंह, रामफल, करण सिंह, मजदूर नेता महेंद्र, बलराम, अमृतलाल आदि थे।

– शशि सैनी