आंदोलनकारियों ने थाली बजाकर किया प्रदर्शन


फरीदाबाद: भ्रष्टाचार विरोधी मंच के द्वारा फरीदाबाद नगर निगम के भ्रष्टाचार को रोकने और घोटालों की जांच के लिए उच्च स्तरीय जांच दल बनाने की मांग को लेकर निगम मुख्यालय पर पिछले 47 दिनों से चल रहा संघर्ष आज उस समय काफी तेजी पकड़ गया जब फरीदाबाद के लोग इस आंदोलन और अनशनकारी बाबा रामकेवल के द्वारा पिछले 9 दिन से जारी आमरण अनशन के समर्थन में हाथों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लेकर सड़कों पर उतर आए। प्रदर्शनकारियों ने बी.के. चौक से लेकर अजरौंदा चौक तक भ्रष्टाचार व भ्रष्टाचारी विरोधी नारे लगाते हुए जुलूस निकाला, हाथों में थाली व चम्मच लेकर बजाते हुए सरकार से अपील की कि वह कुंभकर्णी नींद से बाहर आए और निगम के घोटालों की जांच करवा करके घोटालेबाजों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करें।  प्रदर्शनकारियों ने रास्ते में अद्र्धनग्न प्रदर्शन भी किया।

जुलूस का नेतृत्व भ्रष्टाचार विरोधी मंच के वरूण श्योकंद, निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला, आर.डब्लयू.ए. सेक्टर 22 के प्रधान हर्ष बिश्नोई, समाज सेवी ज्ञानेन्द्र भारद्वाज, आकाश हंस, राजेश शर्मा, किसान नेता किशन सिंह चहल, पर्वतीय कालोनी व्यापार मंडल के नेता राममेहर ंिसंह, पुरूष आयोग के नरेश मेंहदीरत्ता, प्रबोधचंद शंगारी, रिषी भारद्वाज, राम सिंह यादव, जसवंत पंवार के इलावा अनेकों समाजसेवियों ने किया।  इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन निग्मायुक्त की अनुपस्थिति में संयुक्त आयुक्त मुकेश सोलंकी को दिया।  इस आंदोलन को आज उस समय काफी बल मिला जब शहर की प्रतिष्ठित सामाजिक संस्था भाटिया सेवक समाज ने भी अपना समर्थन दे दिया।

– राकेश देव