ग्रामीणों ने बिजली दफ्तर पर जड़ा ताला


गुरुग्राम: बिजली कब आएगी, कब जाएगी, अब बिजली हो गई बेलगाम, ग्रामीण हुए परेशान, लेकिन बिजली विभाग के अधिकारी कुंभकर्णी नींद में सो रहे हैं। आखिरकार आज हरसरू गांव के ग्रामीणों ने भी बिजली दफ्तर पर ताला जड़ दिया। यहां भी ग्रामीणाों ने बिल्डरों को बिजली बेचने का आरोप लगाया है। भड़के ग्रामीणों ने कहा जब गांव में बिजली नहीं मिलेगी तो बिल्डरों को भी नहीं जाएगी। ग्रामीणों का गुस्सा देखते ही बनता था। यही नहीं गढ़ी-हरसरू गांव में पॉवर कट के मामले को लेकर ग्रामीण एक बार फिर लामबद्ध होने लगे हैं। यहां पर भी बिजली कब आएगी, कब जाएगी, खाना भी अंधेर खाया जाता है, बच्चे लालटेन की रोशनी में पढ़ रहे हैं। पॉवर कट के खिलाफ इस गांव ने भी पहले की थी पंचायत, और जेई का ट्रांसफर हुआ था। लेकिन नए जेई के आने के बाद स्थिति और बदतर हो गई है।

यहां भी ग्रामीण बिजली विभाग पर रंजिश का आरोप लगा रहे हैं। बिजली कटों से परेशान हरसरू गांव ने भी पंचायत कर बिजली दफतर का ताला जड़ दिया। बिजली दफ्तर पर ताला जडऩे की सूचना मिलते ही एससी अनिल गोयल, जेई प्रवीन तथा पुलिस अधिकारी हवा सिंह दलबल के साथ मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि एक सप्ताह के अंदर सब कुछ ठीक हो जाएगा। अधिकारियों के आश्वासन के बाद ग्रामीणो ंने दफ्तर का ताला खोल दिया।

बिजली कटो से परेशान हरसरू गांव के सैकड़ों ग्रामीण पहले एकत्रित हुए और पंचायत की। पंचायत के बाद सैकड़ों ग्रामीण बिजली दफ्तर पहुंच गए और विभाग तथा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। ग्रामीणों ने बिजली अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां की बिजली अधिकारी बिल्डरों को बेच रहे हैं। जबकि गांव से 24 घंटा बिजली देने का वायदा किया था। गांव के खुशींद्र चौहान, नंबरदार, बिटू चौहान, डा. सुरेंद्र, देवेंद्र चौहान, दीपक पंडित, विकास चौहान, गोलू शर्मा ने बताया कि गांव में जब बिजली वितरण केंद्र के लिए जगह मांगी गई थी तब गांव वालों ने बिजली अधिकारियो ने वायदा किया था कि यहां पर 24 घंटे बिजली दी जाएगी। ग्रामीणों का आरोप है कि अब अधिकारी वायदे के अनुसार बिजली नहीं दे रहे हैं। दिन में चार-पांच घंटे का कट लग रहा है और रात में भी बिजली काटी जा रही है। ग्रामीणों का आरोप है कि बिजली विभाग के कुछ अधिकारी बिजली बिल्डरों को बेच रहे हैं और गांव की बिजली काट रहे हैं।

– सतबीर भारद्वाज