फर्जी कंपनियां बनाकर अरबों ठगने वाला चढ़ा पुलिस के हत्थे


fraud

गुरुग्राम : साइबर सिटी में फर्जी कंपनियां बनाकर 283 करोड़ 64 लाख 88 हजार 533 रुपये ठगने का मामला प्रकाश में आया है। ठगी सूचना मिलते ही पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर इस सारे फर्जीवाड़े का खुलासा कर दिया। पुलिस को भी आरोपी के बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं थी। पुलिस पीड़ित लोगों से जानकारी इक्ट्ठा कर आखिरकार आरोपी तक पहुंचने में कामयाब हुई। पुलिस सूत्रों की मानें तो पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नेटवर्क भारत के कई हिस्सों में चलाया हुआ था। वह इस बात से पूरी तरह संतुष्ट था कि पुलिस उस तक कभी पहुंच नहीं सकती। हालांकि पुलिस को उसकी भनक लग गई और वह शिकंजे में आ गया।

फर्जीवाड़ा के पता लगते ही पुलिस के भी उड़े होश
बताते चलें कि 1 अगस्त 2017 को थाना शहर में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था। शिकायत में बताया गया था कि उन लोगों ने कई कंपनियों में रुपये जमा कराए थे। कंपनी ने उन्हेंं पैसा दोगुना करने का लालच दिया था। पुलिस ने शिकायत दर्ज करते हुए इसकी जांच ईओडब्लयू को सौंप दी थी। जांच में मामला सामने आया तो पुलिस के भी हौंश उड़ गए। मामला लाखों करोड़ों का नहीं बल्कि अरबों का निकला।

मध्य प्रदेश के भोपाल में रहता था किराये के मकान में
आरोपी की पहचान संजय मेवाड़ा पुत्र बहादुर सिंह मेवाड़ा निवासी गांव ढावला ढिर, जिला शाहजहांपुर, मध्यप्रदेश के रूप में हुई है। आरोपी इतना शातिर था कि उसकी पहचान न हो इसलिए वह असली पते पर ना रहकर भोपाल में मकान नंबर 299 नजदीक जैन मन्दिर, लाल घाटी पंचवटी कॉलोनी एयरपोर्ट में किराये पर रहता था।

इन कंपनियों के जरिए करता था ठगी
चैयरमैन श्रीराम रियल स्टेट एंड बीजनेस सोलूसन लिमिटेड, मैं. अनन्या ग्रुप ऑफ कम्पनी, मैं हर्बल फ्लीट, मैं साई राम बिल्डटेक, मैं श्रीराम मल्टी प्रा. लि., मैं समरदिया ग्रुप प्रा. लि. व दीपक कुमार दांगी पुत्र मास्टर होशियार सिंह निवासी ठाकुरवाडा सोहना जिला गुरुग्राम। डायरेक्टर 2 मोहसीन हुसैन पुत्र श्री साहब खा निवासी कंवरसिका तहसील व जिला नूंह, डायरेक्टर, तालिब हुसैन निवासी गाँव चाहलका तहसील व जिला नूंह, डायरेक्टर, मुसहिद खां पुत्र श्री सहाब खां निवासी कंवरसिका तहसील व जिला नूंह, डायरेक्टर राजेश कुमार निवासी गुरुग्राम, डायरेक्टर अश्विन्दर सिंह जादोन पुत्र बलबीर सिंह निवासी करोली राजस्थान,  हंस राज निवासी धोहला जिला गुरुगाम के नाम से कंपनियां खोली हुई थी।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।

– सतबीर भारद्वाज