गुजरात के बाद अब हिमाचल के मुख्यमंत्री पर सस्पेंस


modi and shah

गुजरात में सीएम पद के लिए तो विजय रुपाणी के नाम पर मुहर लग गई लेकिन हिमाचल प्रदेश में सीएम पद पर सस्पेंस जारी है। राजधानी शिमला में बीजेपी संसदीय बोर्ड के भेजे गए पर्यवेक्षकों की लाख माथापच्ची के बाद भी सीएम के लिए किसी एक नाम पर सहमति नहीं बन पाई। किसी नाम पर एकमत नहीं होने के बाद पर्यवेक्षक के तौर पर हिमाचल गई निर्मला सीतारमण और नरेंद्र सिंह तोमवर वापस दिल्ली लौट आए हैं।

पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल समर्थकों ने तर्क दिया कि प्रदेश की लोकसभा की चारों सीटें जीतने के लिए जरूरी है कि धूमल को ही मुख्यमंत्री बनाया जाए। इसके जवाब में मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार और सिराज विधानसभा क्षेत्र से विधायक जयराम ठाकुर के समर्थकों ने भी जोरदार नारेबाजी की।

इस बीच, भाजपा के सीएम पद को लेकर शिमला में पर्यवेक्षकों से बैठक करने आए पार्टी के वरिष्ठ सांसद शांता कुमार ने कहा कि दुख इस बात को लेकर है, पर्यवेक्षकों के सामने धूमल-जयराम के समर्थक नारेबाजी कर रहे हैं जो पूरी तरह से गलत है। उन्होंने कहा कि अगर मैं अध्यक्ष होता तो नारेबाजी करने वाले कार्यकर्ताओं को बाहर का रास्ता दिखा देता।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को लेकर जनता ने फैसला दिया है। जनता का रुझान किसकी तरफ है ये सबको पता है। वहीं, मुख्यमंत्री की दौड़ में शांता इशारों ही इशारों में जयराम के पक्ष में दिखे। बहरहाल, पर्यवेक्षकों के साथ बैठक के बाद शांता कुमार ने कहा कि उन्होंने सीएम के चेहरे को लेकर अपनी राय दे दी है, अब जो भी फैसला होगा वो केंद्रीय हाईकमान तय करेगा।

वीरवार को हिमाचल प्रदेश के राज्य अतिथिगृह पीटरहॉफ में वीरवार को भाजपा विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा नहीं हो पाई थी। साढ़े चार बजे पीटरहॉफ में बैठक शुरू हुई और सभी सदस्यों के विचार सुने गए। इसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित किया गया। लेकिन वीरवार के घटनाक्रम में केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने बंद कमरे में जयराम ठाकुर व सुरेश भारद्वाज से भी चर्चा की। ऐसा माना जा रहा है किमुख्यमंत्री पद की दौड़ में जयराम व जेपी नड्डा के बीच में मुकाबला है।

बैठक में प्रभारी मंगल पांडेय के अलावा प्रेम कुमार धूमल, पार्टी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, संगठन मंत्री पवन राणा, जयराम ठाकुर, सुरेश भारद्वाज, डा. राजीव बिंदल, विपिन सिंह परमार, रणधीर शर्मा व सांसद रामस्वरूप शर्मा मौजूद थे दोनों ने कहा, बोर्ड को अवगत करवाएंगे पर्यवेक्षक निर्मला सीतारमण व नरेंद्र तोमर ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वह नेताओं की राय से भाजपा संसदीय बोर्ड को अवगत करवाएंगे।

धूमल-सत्ती के जाने पर विधायकों से मुलाकात

रात्रि आठ बजे प्रेम कुमार धूमल व सतपाल सिंह सत्ती के बैठक से जाने के बाद केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने जीतकर आए विधायकों को एक एक कर बात की। इस दौरान केंद्रीय पर्यवेक्षकों के अलावा कोर ग्रुप के नेता भी वहां पर मौजूद थे।