हिरासत में मौत के बाद शिमला में बवाल


शिमला: हिमाचल प्रदेश के कोटखाई में स्कूली छात्रा गुडिया से गैंगरेप व मर्डर मामले में एक आरोपी की पुलिस हिरासत में मौत के बाद पूरे जिला शिमला में हालात बेकाबू हो गये हैं। शिमला से लेकर कोटखाई तक जगह-जगह हत्या के विरोध में धरने-प्रर्दशन हुए। ठियोग, कोटखाई, ढली व फागू में लोग सड़कों पर उतरकर नारेबाजी की जिससे यातायात ठप्प होकर रह गया है। प्रदर्शन कर रहे लोग सरकार व पुलिस के खिलाफ नोरबाजी करने लगे। कोटखाई थाना के बाहर जब एसआईटी चीफ भजन देव नेगी पंहुचे तो उग्र भीड़ ने उन्हें घेर लिया। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायर किया तो मामला भड़क गया। आक्रोशित भीड़ ने थाने पर हमला बोल दिया व थाने को आग लगा दी।

पुलिस थाने में अभी भी पुलिस वाले अपनी जान बचाने के लिए बंद हैं बुधवार की सुबह जैसे ही पुलिस लॉकअप में नेपाली आरोपी की हत्या की खबर आग की तरह इलाके में फैली तो गुस्साये लोग कोटखाई थाना के बाहर जमा होने लगे। कुछ ही देर में हालात बेकाबू हो गये। पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए लोगों ने बुधवार को कोटखाई थाने पर हमला कर दिया व भारी पथराव के चलते थाने की खिड़कियां व शीशे टूट गये हैं। थाने के बाहर लगी भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हवाई फायर भी किए, जिसके बाद तो हालात और बिगड़ गए, लोग बेकाबू हो गए। उन्होंने थाने पर फिर हमला बोल दिया। झड़प में पुलिस वाले घायल हाथापाई में पुलिस वालों को भी चोटें आई हैं। घायल पुलिस जवानों को कोटखाई अस्पताल लाया गया है। इससे पहले स्थिति बिगड़ती देख पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया। इस दौरान कई लोगों को चोटें भी आई हैं।