बस दुर्घटना में पंजाब के 10 श्रद्धालुओं की मृत्यु


शिमला: आज कांगड़ा जिले के ढलियारा के समीप एक बस दुर्घटना में पंजाब राज्य के 10 श्रद्धालुओं की मृत्य हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बस में 50 से ज्यादा यात्री सवार थेे जो ज्वालाजी मंदिर में शीश नवाने जा रहे थे। अमृतसर के यात्रियों की बस खाई में गिरने से 10 यात्रियों की मौत व 30 के घायल होने का समाचार है। सूत्रों के अनुसार मृतकों व घायलों की संख्या बढ़ भी सकती है। राज्यपाल आचार्य देवव्रत तथा मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने बस दुर्घटना में पंजाब राज्य के 10 श्रद्धालुओं की मृत्यु पर गहरा शोक प्रकट किया है। राज्यपाल ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदनाएं प्रकट की हैं तथा दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की है।

वीरभद्र सिंह ने भी उन परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं प्रकट की है, जिन्होंने दुर्घटना में अपने सगे-संबंधियों को खोया है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। उन्होंने जिला प्रशासन को घायलों को हर संभव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। जिला प्रशासन ने सभी घायलों को टांडा मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में भर्ती करवाया है और फौरी राहत के तौर पर प्रत्येक को 10000 रुपये प्रदान किए गए हैं। जिला प्रशासन ने मृतकों की पहचान के उपरान्त शवों को उनके परिजनों को सौंपने के प्रबन्ध किए हैं।

कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने हादसे में मारे जाने पर गहरा दुख व्यक्त

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने हिमाचल प्रदेश में हुए एक दर्दनाक हादसे में अमृतसर के 10 धार्मिक यात्रियों के मारे जाने और 45 अन्य के घायल होने पर गहरा दुख व्यक्त किया है। यह हादसा हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के ढलिआरा समीप उस समय हुआ जब इन धार्मिक यात्रियों को ले जा रही एक निजी बस तीखे मोड़ पर एक गहरी खाई में जा गिरी।

श्री कैप्टन के दिशा निर्देशों के बाद अमृतसर के डिप्टी कमीशनर एक तहसीलदार, सहायक सिविल सर्जन और कुछ पुलिस कर्मचारियों आधारित अपनी एक टीम के साथ घटना वाले स्थान पर पहुंच गए है ताकि पीडि़त परिवारों को हर संभव सहायता देने के साथ साथ घायलों के बेहतर ईलाज को यकीनी बनाया जा सके। प्रवक्ता ने आगे बताया कि अमृतसर के अतिरिक्त डिप्टी कमीशनर डेहरा सब डवीजन के मैजिस्ट्रेट के साथ लगातार संपर्क में है जिनको राहत व और बचाव कार्यो को सूमचा कार्य सौंपा गया है।

– विक्रांत सूद