हिमाचल की 68 सीटों पर मतदान शुरू, कांग्रेस और भाजपा की साख दांव पर


Himachal Election

शिमला: हिमाचल प्रदेश में 68 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हो रहा है। मतदान को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। ऊंचाई वाले इलाकों में सर्दी के बाद भी मतदान केंद्रों के बाहर लोगों की लाइन लगी हुई हैं। सुबह 10 बजे तक 13.72 फीसदी मतदान होना दर्ज किया गया।महिलाएं तथा बुजुर्ग लोकतंत्र के इस महापर्व में बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं. इन चुनावों में 62 विधायकों सहित 337 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। भाजपा और कांग्रेस, दोनों ही दल अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं. भाजपा से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल ने अपने परिवार के साथ हमीरपुर में वोट डाला। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी को 50 से अधिक सीटें मिलेंगी। उधर, शिमला में कांग्रेस की तरफ से दावेदार वीरभ्रद सिंह ने अपने मतदान का  इस्तेमाल किया. उन्होंने दावा कि प्रदेश की जनता कांग्रेस के कामकाज से खुश है, इसलिए उन्हें जनता का पूरा समर्थन मिल रहा है।

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, 10 मंत्री, आठ मुख्य संसदीय सचिव, विधानसभा के उपाध्यक्ष जगत सिंह नेगी, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और एक दर्जन से ज्यादा पूर्व मंत्री समेत अन्य चुनावी मुकाबले में हैं। हिमाचल का चुनाव स्थानीय राजनीति के साथ-साथ केंद्र की राजनीति पर भी असर डालेगा। कल ही 8 नंवबर को केंद्र सरकार ने नोटबंदी के एक साल पूरे किए थे।

उधर, कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने समूचे देश में इसे काले दिन के रूप में मनाया था। विरोधियों की अपील मतदाताओं पर कितना असर डालेगी ये ठीक 40 दिन बाद मतगणना के दौरान ही पता चलेगा. हां, इतना जरूर है कि भाजपा हो या कांग्रेस या फिर अन्य कोई भी दल चुनाव प्रचार में सभी ने अपनी पूरी ताकत लगा दी। दिन-रात एक करते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपनी ओर जोड़ने की कोशिश की।

हिमाचल चुनाव पर लाइव अपडेट्स –

8.00 AM – कड़ी सुरक्षा के बीच 68 सीटों पर वोटिंग शुरू

क्या है हिमाचल का समीकरण

कुल सीटें – 68

प्रत्याशी – 337

पुरुष प्रत्याशी – 138

महिला प्रत्याशी – 19

कुल मतदाता – 50,25,941

पुरुष मतदाता -25,68,761

महिला मतदाता – 24,57,166

ट्रांसजेंडर मतदाता – 14

मोदी ने की भारी मतदान की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पहले लोगों से भारी मतदान की अपील की। उन्होंने ट्वीट किया, ” आज देवभूमि हिमाचल प्रदेश में मतदान का दिन है। मेरी विनती है कि सभी मतदाता लोकतंत्र के महापर्व में भाग लें और भारी संख्या में मतदान करें।

हिमाचल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेंद्र राजपूत ने कहा कि निष्पक्ष चुनाव करवाने को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। उन्होंने बताया कि वैसे तो मतदान सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक होगा, लेकिन यदि मतदान केंद्रों पर ज्यादा लोग होंगे तो मतदान का समय भी बढ़ाया जा सकता है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

उन्होंने कहा कि मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. हर केंद्र पर पुलिस और होमगार्ड के जवान तैनात होंगे. प्रदेश में 11300 पुलिस के जवान तैनात किए गए है, जबकि 5430 होमगॉर्ड के जवान राज्य से तैनात हैं, जबकि एक हजार होमगॉर्ड उत्तराखंड से बुलाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में इस बार 18 राजनीतिक दलों के 337 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। सबसे ज्यादा उम्मीदवार कांगड़ा में हैं, जहां से 12 उम्मीदवार हैं, जबकि झाडूता में सिर्फ दो उम्मीदवार ही चुनावी मैदान में हैं।

399 मतदान केंद्र अति संवेदनशील

प्रदेश में विधानसभा चुनावों में 399 मतदान केंद्र ऐसे है, जो अतिसंवेदनशील है और इन पर निर्वाचन आयोग ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं. इन केंद्रों पर पैरा मिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है। सीसीटीवी कैमरों से इन मतदान केंद्रों पर भी नजर रखी जा रही है। इसके अलावा बॉर्डर एरिया भी सील किये गए हैं. अब तक उड़नदस्तों ने 3.35 लाख लीटर शराब पकड़ी है और भारी मात्रा में कैश भी बरामद किया गया है।

वीरभद्र का आखिरी चुनाव

हिमाचल की सियासत में 55 साल से बेताज बादशाह माने जाने वाले वीरभद्र सिंह का ये आखिरी चुनाव है। वे हिमाचल में 6 बार मुख्यमंत्री बने. इतना ही नहीं वह 25 साल की उम्र में सांसद बनने का इतिहास भी रच चुके हैं। वीरभद्र 80 साल के उम्र के पढ़ाव पर हैं. इस उम्र में भी हिमाचल की सियासी रणभूमि जीतने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं। हिमाचल में कांग्रेस का मुख्यमंत्री चेहरा वीरभद्र सिंह ने कहा कि यह उनका आखिरी चुनाव है। इसके बाद जीवन में वे कभी चुनाव नहीं लड़ेंगे. वीरभद्र सिंह अर्की सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

धूमल पहली बार सुजानपुर से लड़ रहे हैं चुनाव

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र BJP के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल का गृह क्षेत्र है. हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर तीसरी बार सांसद भी हैं। हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र से धूमल विधायक भी रह चुके हैं, लेकिन डीलिमिटेशन की वजह से इस बार धूमल को हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र छोड़कर सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लडना पड़ रहा है। सुजानपुर से मौजूदा BJP विधायक नरेंद्र ठाकुर अब हमीरपुर विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं।

हिमाचल का सियासी समीकरण

हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं. पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य की 68 सीटों में से कांग्रेस को 36, बीजेपी को 26 तो अन्य को 6 सीटें मिली थीं. कांग्रेस को 2007 की तुलना में 2012 के विधानसभा चुनाव में 13 सीटों का फायदा हुआ था। वहीं बीजेपी को 2007 की तुलना में 2012 में 16 सीटों का नुकसान उठाना पड़ा था।

2012 विधानसभा चुनाव में मिले वोटों पर नजर डालें तो कांग्रेस को 43 फीसदी और बीजेपी को 39 फीसदी वोट मिले थे. 2007 की तुलना में कांग्रेस का वोट 5 फीसदी बढ़ा जबकि बीजेपी को 5 फीसदी वोट का नुकसान उठाना पड़ा। बीजेपी महज 4 फीसदी वोटों से कांग्रेस से पीछे रही लेकिन कांग्रेस की तुलना में उसे 10 सीटें कम मिलीं।