देश के कई राज्यों में मूसलाधार बारिश से मचा हा-हाकार, बाढ़ जैसे हालात


नई दिल्ली : देश के कई राज्यों में लगातार मूसलाधार बारिश जारी है। जिस वजह से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। हिमाचल प्रदेश में बारिश के कारण फिर से भूस्खलन हुआ। असम में भी बाढ़ के हालात गंभीर बने हुए हैं और देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में रविवार को भी लगातार बारिश जारी है।

गुजरात के मोरबी जिले के टनकारा तालुका में काफी कम समय में बहुत अधिक बारिश हुई। बारिश के कारण कई डैम में जलस्तर अत्यंत अधिक हो गया, जिससे भारी जलजमाव की वजह से जनजीवन काफी प्रभावित हो रहा है। डेमी समेत कई नदियां उफान पर हैं। मोरबी का धुनडा गांव टापू में तब्दील हो गया है। यहां 9 बच्चों समेत 14 लोगों को राष्ट्रीय आपदा राहत बल ने डूबने से बचाया। खाखरा गांव में नदी में बाइक सवार 2 शख्स बह गए। हालांकि उन्हें भी बचा लिया। टंकारा में हाईवे पर कार बह जाने से तीन लोग फंस गए। इन्हें बचा लिया गया है। बनासकांठा के सुईगाम तालुका, गिर सोमनाथ के कोडिनार तालुका और देवभूमि द्वारका के कल्याणपुर में भारी बारिश से यातायात पर असर पड़ा है। उधर, अहमदाबाद के निचले इलाकों में पानी भर गया है।

गुजरात में उफनती नदियां

गुजरात के मोरबी में उफनती नदियां उफान पर है। मोरबी में बारिश की वजह से सड़कों पर पानी भर गया है और कई वाहन इस कारण बंद पड़ गए हैं। हालात यह कि वाहनों में फंसे लोगों को रस्सी की मदद से वाहर निकालना पड़ रहा है। करीब 12 इंच बारिश ने पूरे इलाके में खतरे की घंटी बजा दी है। यहां बांध के 14 दरवाजे खोल दिए गए हैं ताकि इलाके से पानी को निकाला जा सके। लेकिन बांध के फाटक खोलने से निचले इलाकों में जलभराव का खतरा बढ़ गया है।

आपदा प्रबंधन प्राधिकरण अलर्ट पर : मुख्यमंत्री

Source

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा कि राज्य के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट पर रखा गया है। अहमदाबाद में 31 मिमी बारिश होने के बाद शहर के निचले इलाकों में जलजमाव है।

मुंबई में  भारी बारिश, कुछ जगह जलभराव

Source

मुंबई और आसपास के इलाकों में शनिवार को भारी बारिश हुई। इससे मध्य रेलवे के दोनों मार्गों पर उपनगरीय रेल सेवाएं प्रभावित हुईं। दादर इलाके में सायन और हिंदमाता क्षेत्र में कुछ स्थानों पर जलभराव हो गया है, लेकिन इससे यातायात प्रभावित नहीं हुआ। मध्य रेलवे की हार्बर और मध्य लाइन पर लोकल ट्रेनें देरी से चली।

जोधपुर में बारिश से सड़क पर  तैरते नजर आए दोपहिया वाहन

Source

राजस्थान के जोधपुर में एक वीडियो सामने आया है जहां लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के चलते दोपहिया वाहन सड़कों पर तैरते नजर आए। भारी बारिश की वजह से लोग दुकानें और बाजार बंद करके घरों में कैद होने को मजबूर हैं। बारिश ने लोगों की परेशानियां बढ़ा दी हैं। लोगों को गर्मी से तो राहत मिल गई है लेकिन, यहां का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। तेज धाराओं में बहती हुई मूसलाधार बारिश के कारण आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

जम्मू-कश्मीर में बादल फटा

Source

जम्मू-कश्मीर में कुलगाम जिले के सरबद्री होमपथरी गांव में बादल फटने से 17 साल के लड़के की मौत हो गई। वहीं, जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारी बारिश से रामबन और उधमपुर में भूस्खलन हुआ जिससे राजमार्ग बंद रहा। हालांकि शाम को यहां ट्रैफिक बहाल हो गया।

हिमाचल प्रदेश में भूस्खलन

Source

चीन की सीमा तक जाने वाले सामरिक महत्व का मनाली-लेह मार्ग भारी भूस्खलन के चलते 12 घंटे तक बंद रहा। रोहतांग और राहनीनाला के बीच विशालकाय चट्टानों और मलबे से सड़क बाधित हो गई। इससे दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइनें लग गई। सुबह छह बजे भूस्खलन होने की सूचना मिलते ही बीआरओ के जवान सड़क को बहाल करने में जुट गए। हालांकि छोटे पत्थरों को तो जेसीबी से हटा लिया गया।

लेकिन बड़ी चट्टानों को ब्लास्ट करके ही रास्ता खोलना पड़ा। इस बीच कीचड़ और मलबे से सड़क दलदल में तबदील हो गई। जिसे पूरी तरह से 12 घंटे बाद शाम छह बजे ही बहाल किया जा सका। बीआरओ के कमांडर एके अवस्थी ने बताया कि बीआरओ के जवानों ने विपरीत परिस्थितियों में पूरी महेनत से ब्लास्‍ट कर मार्ग बहाल किया है। मनाली के थाना प्रभारी केडी शर्मा ने बताया कि मार्ग बंद होने के दौरान पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित रखने में अहम भूमिका निभाई।

असम में बाढ़

Source

असम में करीब 453 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं और 5,272 हेक्टेयर में लगी फसल को नुक्सान पहुंचा है। करीमगंज को सबसे अधिक नुक्सान पहुंचा है, यहां बाढ़ से 1.53 लाख प्रभावित हुए हैं। यहां करीब 269 लोग बचाव कैंप में रह रहे हैं। असम में बारपेटा, लखीमपुर, जोरहाट, करीमगंज, कछार, धेमाजी, कार्बी आंगलांग और विश्वनाथ जिलों में 2.80 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं।

हरियाणा में भारी बारिश से हुआ फसलों को नुकसान

source

हरियाणा में भी भारी बारिश से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। यहां पर करनाल जिले के पिछले 3 दिन से लगातार बारिश हो रही है जिससे 40 फीसदी जमीन पर धान की खेती बर्बाद हो चुकी है। पंजाब के बरनाला जिले में भी बारिश से ऐसे ही हालात बने हुए हैं।

दिल्ली में बारिश बनी आफत

दिल्ली में मानसून की बारिश से लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली है तो कई जगह आफत भी बन गई है। पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके में भारी बारिश की वजह से शनिवार रात करीब 2:30 बजे इमारत गिर गई, जिसमें भारी नुकसान की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में सो रहे कई लोग मलबे में दबे हुए हैं।

Source

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार और उत्तर प्रदेश के पूर्वी इलाके में भारी बारिश कि चेतावनी दी है। वहीं अरुणाचल प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, गोवा, छत्तीसगढ़ और कर्नाटक में भी मूसलाधार बारिश की संभावना जताई गई है।