सुंजवान आतंकी हमले में शहीद अशरफ मीर की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब , लगाये पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे


Sunjuwan Terror Attack

जम्मू & कश्मीर के कुपवाड़ा में आज शहीद अशरफ मीर के जनाजे में हजारों की तादाद में लोग शामिल हुए। आपको बता दे कि भारतीय सेना के JCO अशरफ मीर जम्मू के सुंजवान कैंप पर हुए हमले में आतंकवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए थे।

शहीद अशरफ मीर का आज जैसे ही उनका पार्थिव शरीर उनके गृह नगर कुपवाड़ा पहुंचा, हजारों की तादाद में लोग जमा हो गए। शहीद अशरफ मीर की अंतिम यात्रा में शामिल लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद और ‘शहीद अशरफ मीर अमर रहें’ के नारे लगाए। वहीं अंतिम यात्रा में शामिल लोगों ने भारतीय सेना की जय के भी नारे लगाए।

आपको बता दें कि शनिवार को सुंजवान में हुए आर्मी कैंप में हुए हमले में अब छह जवान शहीद हो गए हैं और एक नागरिक की मौत हो गई है। इसमें 10 लोग घायल भी है जिसमें महिलाएं और बच्‍चे शामिल हैं। शनिवार को भारी हथियारों से लैस आतंकियों ने सेना की यूनिफॉर्म में सुंजवान मिलिट्री कैंप पर हमला बोला था। आतंकियों ने पहले ग्रेनेड फेंक और फिर ऑटोमैटिक राइफल से फायरिंग करते हुए मिलिट्री स्‍टेशन के अंदर दाखिल हो गए। सभी आतंकी पाकिस्‍तान के नागरिक थे। सेना ने इस हमले में चार आतंकियों को मार गिराया था।

आतंकियों ने जम्‍मू कश्‍मीर लाइट इनफेंट्री की सुंजवान स्थित 36वीं ब्रिगेड को अपना निशाना बनाया था। इस हमले में कठुआ जम्‍मू के रहने वाले 50 वर्षीय जेसीओ मदन लाल चौधरी, कुपवाड़ा के मदनपोरा गांव के रहने वाले 43 वर्षीय सूबेदार मोहम्‍मद अशरफ मीर, कुपवाड़ा के बाटपोरा गांव के रहने वाले 38 वर्षीय हवलदार हबीबुल्‍लाह कुरैशी, पुलवामा के नीगेन पोरा के रहने वाले लांस नायक मोहम्‍मद इकबाल और अनंतनाग जिले के केवार गांव के रहने वाले 32 वर्षीय लांस नायक मंजूर अहमद देवा शहीद हो गए थे। वहीं हमले में जिस नागरिक की मौत हुई वह शहीद लांस नायक इकबाल के पिता थे।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी  के साथ।