असंगठित कामगार कांग्रेस की राज्य शाखा का उद्घाटन


पटना : बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस का शुभारंभ आज प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुख्यालय सदाकत आश्रम में एक भव्य समारोह के साथ संपन्न हुआ। कंपकंपाती ठंढ के बाबजूद इस समारोह में राज्य के कोने-कोने से बड़ी संख्या में असंगठित कामगार उपस्थित थे।

उद्घाटन समारोह में बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष कौकब कादरी, अखिल भारतीय असंगठित कामगार कांग्रेस के अध्यक्ष अरविन्द सिंह, उपाध्यक्ष इरफान आलम, बिहार प्रभारी डा. अजय उपाध्याय, बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के अध्यक्ष राजेश गुरनानी विशेष रूप से उपस्थित थे।

असंगठित कामगार कांग्रेस की राज्य शाखा का उद्घाटन करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर असंगठित कामगार कांग्रेस की शुरूआत करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी असंगठित कामगारों की आवाज बनेगी।

श्री कादरी ने कहा कि असंगठित क्षेत्र के कामगारों की कार्यकुशलता उपयोगिता और उनकी क्षमता को उचित सम्मान दिलाने के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी के आधार को मजबूती प्रदान करने के लिये असंगठित कामगार का गठन किया गया है। श्री कादरी ने असंगठित कामगारों का आह्वान किया कि वे प्रदेश कांग्रेस द्वारा आयोजित होने वाली आमंत्रण यात्रा में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें तथा कांग्रेस पार्टी की नीतियों एवं कार्यक्रमों में अपनी सहभागिता बनायें।

उन्होंने असंगठित कामगारों के पदाधिकारियों से आग्रह किया कि वे राज्य के कोने-कोने का दौरा कर प्रदेश कांग्रेस संगठन में भी अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें। इस अवसर पर असंगठित कामगार कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविन्द सिंह ने कहा कि बिहार में 95 प्रतिशत मजदूर असंगठित है उनका बड़ा शोषण होता है हमें उन्हें जागृत करना है।

उन्होंने असंगठित कामगार के पदाधिकारियों का आह्वान किया कि वे जिला एवं प्रखण्डों का व्यापक दौरा करें एवं वहां कामगार कांग्रेस का मजबूत संगठन खड़ा करें। उन्होंने कहा कि भविष्य की राजनीति असंगठित क्षेत्र का है। इस अवसर पर असंगठित कामगार कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इरफान आलम, बिहार प्रभारी डा. अजय उपाध्याय ने भी अपने विचार व्यक्त किये। बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के अध्यक्ष राजेश गुरनानी ने समारोह की अध्यक्षता की एवं मंच संचालन किया।

इस अवसर पर पूर्व विधायक डा. पद्माशा झा, लाल बाबू लाल, वरिष्ठ कांग्रेस नेता समीर कुमार सिंह, एच. के. वर्मा, अजय कुमार चौधरी, कुमार आशीष, सत्येन्द्र बहादुर, धीरू यादव, श्रीमती रीता सिंह, सुनील कुमार सिंह, श्रीमती सुधा मिश्र, शाहिद अख्तर ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ